• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Akhilesh Yadav Up Election Samajwadi Party Uttar Pradesh Assembly Election There Will Be No Fair Elections Until The Big Officers Are Changed

अखिलेश बोले- फ्री बिजली के लिए घर-घर जाकर नाम लिखेंगे:योगी सरकार ने जानबूझकर बिजली बिल रोके, भेजे तो ऐसा करंट लगेगा कि जमानत जब्त हो जाएगी

लखनऊ5 महीने पहले

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने मंगलवार को लखनऊ में प्रेस कान्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि 300 यूनिट बिजली के लिए नाम लिखाओ अभियान की शुरूआत कर रहे हैं। इसे हमने अपने मेनिफेस्टो में शामिल किया है। जो लोग चाहते हैं कि उन्हें मुफ्त बिजली मिले, वे कल से अपना नाम लिखाएं। वही नाम लिखाएं, जो बिल में दर्ज है। इस मुद्दे के साथ हम घर-घर जाना चाहते हैं। 19 जनवरी से हम अभियान शुरू कर रहे हैं। योगी सरकार ने पिछले कुछ महीनों से बिजली बिल नहीं भेजे हैं। ये जानबूझकर नहीं भेजे गए हैं। यदि बिल भेजे तो इन्हें ऐसा करंट लगेगा कि इनकी जमानत जब्त हो जाएगी।

भाजपा ने महंगाई बढ़ाई है। नौकरी रोजगार खत्म कर दिए। एयरपोर्ट बेचे जा रहे हैं। पानी के जहाज बिक गए। बंदरगाह बिक रहे हैं। सोचना इस बात के लिए चाहिए कि बैंकों का इंटरेस्ट कितना कम हो गया? बैंक डूब रही है। बिक रही हैं। ये बड़े सवाल हैं, जिनका जवाब भाजपा के पास नहीं है।

भाजपा ने सपा कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे लिखाए

अखिलेश ने कहा सपा कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज किए गए हैं। रामपुर के जिलाधिकारी ने सरकार की मनमर्जी से काम किया। एक आईपीएस दूसरे पर आरोप लगा रहे थे कि पैसे से पोस्टिंग हो रही है। सबसे ज्यादा आपराधिक मामले वाले विधायक तो भाजपा ने पहुंचाए हैं। समाजवादी पार्टी की मान्यता रद्द करने की याचिका को उन्होंने भाजपा प्रायोजित बताया। कहा कि ऐसे तो योगी जी भी चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। अखिलेश के साथ स्वामी प्रसाद मौर्य और आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम भी मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि अब्दुल्ला को फंसाने में कांग्रेस और भाजपा दोनों शामिल थे।

सर्वे गलत, हमे 400 सीटें मिलेंगी

सरकार ने लोगों के लिए काम किया होता तो उन्हें ऐजेंसी की मदद नहीं लेनी होती। जनता नाराज है। हमें 400 सीटें लेने से कोई नहीं रोक सकता।

अपडेट्स

  • किसानों को आतंकी कहने वाले उनका उपजाया अन्न क्यों खा रहे हैं।
  • चीनी मिलों ने गन्ने का भुगतान नहीं किया।
  • जिन किसानों की फसल का नुकसान हुआ, उन्हें मुआवजा नहीं दिया गया।
  • महंगाई के कारण किसानों की कमाई आधी हो गई है।
  • चुनावी सर्वे फर्जी हैं। वे जानते नहीं है कि स्वामी प्रसाद मौर्य हमारे साथ, कृष्णा पटेल हमारे साथ है।