• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Amitabh's Wife Nutan Thakur Also Became An Accused In The Trial This Time, Accused Of Assaulting The Police During Arrest And Obstructing Government Work.

पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर पर एक और FIR:एक्टिविस्ट पत्नी नूतन ठाकुर भी इस बार आरोपी बनीं, पुलिस से मारपीट और सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमिताभ ठाकुर और नूतन ठाकुर। - Dainik Bhaskar
अमिताभ ठाकुर और नूतन ठाकुर।

बसपा सांसद अतुल राय की रेप पीड़िता के खिलाफ मदद करने के आरोपी पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के खिलाफ शनिवार को गोमतीनगर में एक और केस दर्ज किया गया। इस बार उनकी पत्नी नूतन ठाकुर को भी मुकदमे में आरोपी बनाया गया है। यह केस शुक्रवार को गिरफ्तारी के दौरान पुलिस से मारपीट करने और सरकारी काम मे बाधा डालने के आरोप में एक दरोगा की तहरीर पर दर्ज किया गया है।

27 अगस्त को हुई थी अमिताभ की गिरफ्तारी

इंस्पेक्टर गोमतीनगर केके तिवारी के ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह करने वाली रेप पीड़िता के आरोप में अमिताभ ठाकुर को शुक्रवार को हजरतगंज पुलिस ने गिरफ्तार किया था। हजरतगंज पुलिस के साथ दारोगा धनंजय सिंह, पूर्व आइपीएस अमिताभ ठाकुर के गोमतीनगर स्थित आवास पर उनकी गिरफ्तारी करने गए थे। इस दौरान पूर्व आइपीएस अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर ने सरकारी कार्य में बाधा डाली।

नूतन ठाकुर ने गिरफ्तारी का वीडियो बनाना शुरू कर दिया। अमिताभ ठाकुर ने पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की और मारपीट की। महिला पुलिस कर्मियों ने रोकने का प्रयास किया तो उसने भी उलझ गईं। अमिताभ ठाकुर ने पुलिस की अभिरक्षा तोड़ने का प्रयास किया। काफी देर तक हंगामा करते रहे। उनके खिलाफ दारोगा धनंजय सिंह ने तहरीर दी है। इंस्पेक्टर ने बताया कि दरोगा की तहरीर पर अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

पहले नजरबंद फिर गिरफ्तार कर भेजे गए जेल

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर रेप पीड़िता ने गंभीर आरोप लगाया था जिसकी जांच के लिए शासन ने दी आईपीएस अफसरों की कमेटी बनाई थी। इन्हीं विवादों के बीच अमिताभ ने योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। 23 अगस्त को वह जनसंपर्क के लिए गोरखपुर जा रहे थे, तभी पुलिस ने उन्हें रोक लिया और घर मे ही 52 घंटे तक नजरबंद रखे गए। इसके बाद 27 अगस्त को उन्होंने अपनी नई राजनीतिक पार्टी के नाम की घोषणा कर दी। इसी दिन उनके खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। वह अभी जेल में हैं।

खबरें और भी हैं...