म्यांमार की गरीब महिलाओं की करते हैं तस्करी:मानव तस्कर गिरोह का एक और सदस्य हैदराबाद से गिरफ्तार, ट्रांजिट रिमांड पर UPATS लखनऊ लेकर आई

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मानव तस्कर गिरोह के सरगना मुहम्मद नूर उर्फ नूरुल को दो साथियों के साथ 27 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। - Dainik Bhaskar
मानव तस्कर गिरोह के सरगना मुहम्मद नूर उर्फ नूरुल को दो साथियों के साथ 27 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था।

बांग्लादेश और म्यांमार से गरीब महिलाओं की तस्करी करने वाले रोहिंग्याओं के मानव तस्कर गिरोह का एक और सदस्य गिरफ्तार किया गया। यूपी एटीएस की टीम ने इसे हैदराबाद से पकड़ा है। टीम इसे ट्रांजिट रिमांड पर शुक्रवार को लखनऊ लेकर पहुंची। आईजी एटीएस ने बताया कि पूछताछ के लिए आरोपी की पुलिस कस्टडी रिमांड ली जाएगी।

हैदराबाद में बढ़ा रहा था सिंडीकेट
आईजी एटीएस जीके गोस्वामी ने बताया की 27 जुलाई को मानव तस्कर गिरोह के सरगना मुहम्मद नूर उर्फ नूरुल को दो साथियों के साथ 27 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। उसने पूछताछ में बताया कि उसका एक साथी हैदराबाद में रह रहा है। वह हैदराबाद में गिरोह का सिंडिकेट फैला रहा है। इस पर टीम ने छपेमारी करके हैदराबाद के बहादुरपुरा थानाक्षेत्र के प्रिंस कॉलोनी से मोहम्मद इस्लाम को गिरफ्तार किया गया।

गिरोह के ये सदस्य हो चुके गिरफ्तार

  • 3 अगस्त- अब्दुल शकूर, आले मिया
  • 27 जुलाई- मुहम्मद नूर उर्फ नुरुल इस्लाम, रहमतुल्लाह, शफीउल्लाह
  • 18 जून- मुजम्मिल, अतीकुर्रहमान

गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी बंग्लादेश और म्यांमार के निवासी हैं। जो उत्तर भारत के कई राज्यों में ठिकाना बनाकर रह रहे हैं। यह गिरोह बांग्लादेश और म्यांमार की गरीब महिलाओं और बच्चियों को नौकरी का झांसा देकर यूपी और दिल्ली में लाकर बेचते हैं। यहां से महिलाओं की तस्करी विदेशों में होती है।