मोदी कैबिनेट...UP से 4 चेहरे हो सकते हैं शामिल:अनुप्रिया पटेल, प्रवीण निषाद, वरुण गांधी और शिवप्रताप शुक्ल केंद्र में बन सकते हैं मंत्री; चुनाव से पहले जातीय गणित सेट करने में जुटी BJP

लखनऊ5 महीने पहलेलेखक: विनोद मिश्र
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश के 4 बड़े चेहरों को मोदी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। इसमें अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल, निषाद पार्टी के प्रवीण निषाद, पीलीभीत से भाजपा सांसद वरुण गांधी और पूर्वांचल से शिव प्रताप शुक्ला शामिल हैं। इन सभी को मोदी कैबिनेट में शामिल करने का मकसद यूपी की अलग-अलग सीटों पर जातीय समीकरण को सेट करना है, ताकि अगले साल चुनाव में इसका BJP को फायदा मिल सके।

जिन 5 राज्यों में चुनाव हैं उन पर ज्यादा फोकस
दिल्ली में सियासी हलचल तेज है । मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में अभी तक मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हुआ है। ऐसे में बताया जाता है कि अगले साल देश के जिन पांच राज्यों में चुनाव होने वाले हैं, वहां सबसे ज्यादा फोकस है। इनमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में चुनाव हैं। सूत्रों के मुताबिक मोदी सरकार के विस्तार में सबसे ज्यादा जगह इन्हीं राज्यों के चेहरों को मिल सकती है।

UP के सहयोगी दलों से रिश्ते मजबूत करने की कोशिश
मोदी कैबिनेट में अपना दल की अनुप्रिया पटेल और निषाद पार्टी के प्रवीण निषाद को मंत्री बनाने की अटकलें तेज हैं। ये कयासबाजी इसलिए भी लग रही है क्योंकि यूपी में चुनाव से पहले BJP अपनी सहयोगी पार्टियों को किसी तरह से नाराज नहीं करना चाहती है। करीब एक हफ्ते पहले ही निषाद पार्टी और अपना दल एस के नेता गृहमंत्री अमित शाह से मिल चुके हैं। बताया जाता है कि इसमें दोनों पार्टियों ने सरकार में अपनी भूमिका तय करने की मांग की थी।

शाह से मुलाकात के बाद ही अपना दल (एस) को यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए दो सीटें दी गईं। अनुप्रिया पटेल की पार्टी का पूर्वांचल के सोनभद्र और आस-पास के जिलों में खासा प्रभाव है। अपना दल ओबीसी की बड़ी पार्टी मानी जाती है। कहा जा रहा है कि अनुप्रिया पटेल को मंत्रिमंडल में शामिल करने से पार्टी को यूपी में कुर्मी जाति का सहयोग मिल सकता है। यूपी में दूसरे सहयोगी दल निषाद पार्टी है। संजय निषाद का दावा है कि पार्टी का प्रभाव यूपी के 140 सीटों पर है। लिहाजा इसका फायदा यूपी में बीजेपी को मिल सकता है।

खबरें और भी हैं...