बाइक बोट घोटाले में ईडी की बड़ी कार्रवाई:आरोपी संजय भाटी और उससे जुड़ी कंपनियों की 112.36 करोड़ की संपत्तियां अटैच; निवेशकों के 4200 करोड़ रुपए लिए थे हड़प

लखनऊ17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

यूपी में 4200 करोड़ रुपए के बाइक बोट घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बड़ी कार्रवाई की है। एजेंसी ने आरोपियों की 112.36 करोड़ की संपत्तियां अटैच की हैं। यह संपत्तियां नोएडा, मेरठ और हिमाचल प्रदेश में स्थित हैं।

इससे पहले इसकी जांच कर रही आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्लू) ने घोटाले से जुड़ी सैकड़ों बाइक लखनऊ और अन्य जिलों से बरामद की थीं। ईओडब्लू ने इस घोटाले से जुड़े कई आरोपियों को भी गिरफ्तार किया था। नोएडा से शुरू हुए इस घोटाले की रकम और कई तरह की जालसाजियों को देखते हुए, इसकी जांच ईडी को सौंपी गयी थी।

103 करोड़ की प्रॉपर्टी पहले हो चुकी है अटैच

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि 112.36 करोड़ रुपये की संपत्ति अटैच की है। यह संपत्ति आरोपी संजय भाटी और उसकी कंपनी गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स समेत अन्य कंपनियों की है। अटैच की गई संपत्तियों में मेरठ, हिमाचल और नोएडा में स्थित कंपनियों के प्लॉट, जमीन और मकान शामिल हैं।

जांच कर रहे अफसरों के मुताबिक गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स और इंडिपेंडेंट टीवी के नाम पर 26 प्रॉपर्टी और 22 बैंक खाते हैं। इन प्रॉपर्टी की कीमत लगभग 103.73 करोड़ रुपए है, जिन्हें पहले ही अटैच किया जा चुका है। 60 करोड़ रुपये की और संपत्ति की जानकारी मिली है, जिसे जल्द ही अटैच किया जाएगा।

ऐसे हुआ बाइक बोट घोटाला

बसपा के पूर्व नेता संजय भाटी और उसके सहयोगियों ने 2019 में नोएडा में कम्पनी बनाकर बाइक कैब की योजना लांच की थी। एक साल में दोगुनी रकम वापसी की शर्त पर हजारों लोगों से निवेश करवाया गया था।

इसके बाद निवेशकों के 4200 करोड़ रुपए हड़पकर कंपनी फरार हो गयी। निवेशकों की तरफ से मुकदमे दर्ज कराए जाने लगे, तो पहले इसकी जांच ईओडब्लू को और फिर ईडी को सौंपी गई।

खबरें और भी हैं...