ताकि तलाक के बाद मुआवजा कम देना पड़े:लखनऊ में पति ने टीचर पत्नी की इनकम टैक्स ID हैक करने की कोशिश की, आरोपी बैंक अधिकारी हिरासत में

लखनऊ2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • पत्नी ने ठाकुरगंज कोतवाली में दर्ज कराई FIR
  • मोबाइल पर आए अलर्ट मैसेज से टीचर को हुई थी जानकारी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां तलाक के बाद कम मुआवजा देना पड़े, इसके लिए एक बैंक अधिकारी ने अपनी टीचर पत्नी के इनकम टैक्स ID और पासवर्ड को हैक करने का प्रयास किया। लेकिन मोबाइल पर आए अलर्ट मैसेज से टीचर पत्नी को पति के करतूत की भनक लग गई। उसने ठाकुरगंज थाने में FIR दर्ज करा दी है। मामले की जांच STF के साइबर सेल को दी गई है। पुलिस ने आरोपी पति को हिरासत में लिया है। दोनों के बीच तलाक का केस चल रहा है।

आरोपी पति अक्षत विजय बैंक में हैं सीनियर अधिकारी
साइबर क्राइम के SP डॉक्टर त्रिवेणी सिंह ने बताया कि आरोपी पति अक्षत विजय राजधानी के एक बैंक में सीनियर अधिकारी हैं। उसने किसी ने बताया था कि यदि वह पत्नी के इनकम टैक्स रिटर्न दस्तावेज में खुद से ज्यादा आय दिखा दे तो उसे कम मुआवजा देना पड़ेगा। इसके लिए पति ने पत्नी की इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) दाखिल करने वाली ID के पासवर्ड को बदलने का प्रयास किया। जैसे ही पासवर्ड बदलने की कोशिश की‚ तभी पत्नी के पास उसका अलर्ट मैसेज आ गया।

बताया जा रहा है कि इसी साल मार्च में पति-पत्नी ने तलाक लेने के लिए केस फाइल किया था। जिसके बाद से ये मामला कोर्ट में चल रहा था। इस बीच तलाक होने की स्थिति में नियमानुसार पत्नी को आर्थिक तौर पर निर्भर बनाने के लिए मुआवजा भी देना पड़ता है। ऐसे में कम से कम मुआवजा देना पड़े‚ इसलिए नौकरी करने वाली पत्नी के इनकम टैक्स रिटर्न दस्तावेज में ही ज्यादा इनकम दिखाने के लिए आरोपी ने हेरफेर करने की साजिश कर डाली थी।

जांच में दोषी मिला पति, गिरफ्तार हुआ

SP डॉक्टर त्रिवेणी सिंह ने बताया कि किसी के निजी डेटा का उसके परिवार का कोई सदस्य गलत तरीके से इस्तेमाल नहीं कर सकता है। यह अपराध है। साइबर नजरिए से आरोपी दोषी मिला। इसके बाद उसे पर केस दर्ज किया गया। साथ ही उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।