ब्लैकमेलिंग से तंग आकर दी जान:PNB अफसर श्रद्धा ने शादी से इनकार किया तो मंगेतर ब्लैकमेल करने लगा, IPS से दोस्ती की धमकी देता था

लखनऊ9 महीने पहले

अयोध्या में पंजाब नेशनल बैंक की असिस्टेंट मैनेजर श्रद्धा गुप्ता की खुदकुशी के मामले में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि श्रद्धा को उसका पूर्व मंगेतर विवेक उसे ब्लैकमेल कर रहा था। श्रद्धा ने विवेक का चाल चलन देखकर उससे शादी से इनकार कर दिया था।

विवेक ब्लैकमेलिंग में अपने IPS दोस्त आशीष के नाम का सहारा लेता था। आशीष भी दोस्त विवेक की मदद कर रहा था। दोनों का रिश्ता जनवरी 2020 में पक्का हुआ था, लेकिन कोरोना के चलते शादी नहीं हो पाई। दोनों की मुलाकात शुरू हो गई थीं। इसी दौरान श्रद्धा को पता लगा कि विवेक के कई लड़कियों के साथ अफेयर रहे हैं।

विवेक गुप्ता लखनऊ में एचसीएल कंपनी में आईटी हेड है। श्रद्धा के शादी से इनकार के बाद वह उसे ब्लैकमेल करने लगा था।
विवेक गुप्ता लखनऊ में एचसीएल कंपनी में आईटी हेड है। श्रद्धा के शादी से इनकार के बाद वह उसे ब्लैकमेल करने लगा था।

विवेक की करतूतें जानकर श्रद्धा ने किया था इनकार
श्रद्धा के परिजनों का कहना है कि शादी तय होने के बाद विवेक का श्रद्धा से मिलना-जुलना शुरू हो गया था। विवेक की बुरी आदतों की जानकारी लगी, तो उसने शादी से इनकार कर दिया। इसके ाबाद विवेक उसे ब्लैकमेल करने लगा। उसने अपने IPS दोस्त आशीष तिवारी से भी श्रद्धा पर शादी के लिए दबाव बनवाया।

श्रद्धा ने डायरी के 60 पन्नों में पूरा वाकया लिखा है कि विवेक का चाल-चलन कैसा था? उसकी हरकतों की जानकारी मिलने के बाद ही उसने उससे दूरी बनाई। श्रद्धा ने लिखा है कि विवेक से जब उसने दूरी बनाई तो वह ब्लैकमेलिंग पर उतारू हो आया।

अयोध्या में SSP रहा है आईपीएस आशीष
अयोध्या में श्रद्धा की पोस्टिंग बीते 5 सालों से है। जनवरी 2020 में विवेक और श्रद्धा की शादी तय हुई। विवेक से आशीष की पुरानी दोस्ती है। लखनऊ में रहने के दौरान ही दोनों की दोस्ती हुई है। विवेक एचसीएल कंपनी में आईटी हेड है। विवेक की हरकतें जानकर जब श्रद्धा ने शादी से इनकार किया तो वहां एसएसपी रहे आशीष ने उस पर कई तरह से दबाव बनाए।

श्रद्धा ने मां को भी बताया था कि विवेक परेशान कर रहा है
पिता ने बताया कि कई बार विवेक को समझाने का प्रयास किया। मगर, वो हर बार यही कहता था कि मेरी पहुंच पुलिस के बड़े अधिकारियों तक है। अगर मुझे परेशान करोगे तो बहुत बुरा होगा। मेरी बेटी हर हफ्ते लखनऊ में मिलने आती थी। पिछले 15 दिन से वो काफी परेशान थी। श्रद्धा ने अपनी मां को बताया था कि विवेक परेशान कर रहा है। इतना ही नहीं वो बड़े-बड़े पुलिस अफसरों से फोन करा कर मानसिक तौर पर टार्चर करा रहा है। इसके बाद हम लोगों ने उसे समझाकर भेज दिया था।

यह भी पढ़ें :

खबरें और भी हैं...