पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाराबंकी पुलिस के हत्थे चढ़ा मुख्तार का गुर्गा:एंबुलेंस के फर्जी दस्तावेज मामले में ढाई महीने से फरार था 25 हजार का इनामी, अस्पताल संचालिका पर गलत बयान देने का बनाया था दबाव

बाराबंकी3 महीने पहले
बाराबंकी पुलिस ने एंबुलेंस मामले में मुख्तार अंसारी के साथी आनंद यादव को बुधवार को गिरफ्तार किया है।

बाहुबली मुख्तार अंसारी की एंबुलेंस के फर्जी दस्तावेज मामले में फरार चल रहा 25 हजार के इनामी आनंद यादव को बाराबंकी पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी लंबे समय से फरार चल रहा था। उस पर साजिश रचने के साथ मऊ की संजीवनी हॉस्पिटल की संचालिका डॉ. अलका राय पर दबाव बनाकर झूठा बयान दिलवाने का आरोप है।

डॉ. अलका राय को दी थी ऑडिया क्लिप

बाराबंकी के एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि आरोपी आनंद यादव लंबे समय से फरार चल रहा था। जिसकी पुलिस को तलाश थी। आनंद पर पुलिस ने 25 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था। शाहिद व मुजाहिद के साथ आनंद भी डॉ. अलका राय के घर गया था। जहां पर तीनों ने डॉ. अलका राय को एक ऑडियो क्लिप दी थी। जिसमें कहा गया था कि अगर पुलिस और मीडिया इस मामले की छानबीन करे, तो उनको क्या जवाब देना है। क्लिप में इसकी पूरी जानकारी मौजूद थी। तीनों ने डॉ. अलका से कहा था कि पूछताछ में वह यह बताए कि मुख्तार अंसारी की पत्नी बीमार थीं, उन्हें एंबुलेंस की जरूरत थी। जिसे लेकर वह पंजाब गए थे।

सामने आएंगे कई लोगों के नाम

एसपी ने बताया कि आनंद यादव को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। मामले को लेकर कई नए लोगों के नाम भी सामने आ रहे हैं। उन सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस एंबुलेंस से हथियार भी ले जाए गए थे।

दो आरोपी अभी भी फरार

पुलिस ने फरार चल रहे आरोपी आनंद यादव को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन इस मामले में अभी भी दो आरोपी पुलिस की गिरफ्त से फरार हैं। आनंद यादव को पुलिस जेल भेजने की तैयारी कर रही है। जबकि, मुख्तार के गुर्गे राजनाथ यादव, डॉ. अलका और शेष नाथ राय को पुलिस पहले ही जेल भेज चुकी है

क्या है एंबुलेंस मामला

बाहुबली मुख्तार अंसारी जिस एंबुलेंस से पंजाब जाता था। उस एंबुलेंस की नंबर प्लेट पर बाराबंकी का नंबर लिखा था। मुख्तार के गुर्गों ने साल 2013 में बाराबंकी एआरटीओ में एंबुलेंस रजिस्टर्ड कराई गई थी। लेकिन एंबुलेंस का रजिस्ट्रेशन फर्जी दस्तावेज पर किया गया था। इसी एंबुलेंस से मुख्तार अंसारी पंजाब की मोहाली कोर्ट में पेशी के लिए जाता था। मामले के सामने आने के बाद दो अप्रैल को बाराबंकी में केस दर्ज किया गया था। इसको लेकर मुख्तार अंसारी और मऊ की डॉ. अलका राय सहित कुल छह लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।

खबरें और भी हैं...