BBAU में सत्र 2021-22 के दाखिले:CUCET नहीं बीबीएयू खुद से आयोजित करेगा एंट्रेंस एग्जाम, जुलाई में एडमिशन ओपन करने की तैयारी; ये है सीटों का ब्यौरा

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय (बीबीएयू) में जल्द ही सत्र 2021-22 के लिए दाखिले शुरू होंगे। इस सत्र में विश्वविद्यालय ने एडमिशन के लिए खुद से एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट कराने जा रहा है। इससे पूर्व विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से मानव संसाधन विकास मंत्रालय की समान प्रवेश प्रक्रिया में इस साल शामिल ना होने का फैसला लिया गया है।

हालांकि, पहले यह कयास लगाएं जा रहे थे कि इस बार एमएचआरडी के निर्देशन में कंबाइंड एडमिशन प्रोसेस का हिस्सा बनकर बीबीएयू दाखिला प्रक्रिया पूरी करेगा पर उन सभी अटकलों में विराम लगाते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह फैसला किया है। हालांकि, बीटेक व एमबीए के लिए पहले से ही यूनिवर्सिटी ने आईआईटी, जेईई व कैट के स्कोर पर आधार पर एडमिशन की घोषणा की है और उनके रेजिस्ट्रेशन भी शुरु हो गए है।

बीबीएयू प्रवक्ता डॉ. रचना गंगवार के अनुसार विश्वविद्यालय की ओर से इस संबंध में एमएचआरडी से भी दिशा-निर्देश मांगे गए थे लेकिन अभी तक इस पर कोई ठोस निर्देश नहीं मिल पाए,कोरोना संक्रमण की भयावह स्थित ही इसके पीछे का मुख्य कारण रहा होगा,ऐसे में विश्वविद्यालय प्रशासन ने अपने स्तर पर दाखिला प्रक्रिया को शुरू करने का फैसला लिया है।उन्होंने दावा किया कि प्रवेश प्रक्रिया को लेकर लगातार बैठकों का दौर जारी है।एडमिशन मॉनिटरिंग कमिटी व ब्रोशर कमिटी की बैठकें चल रही है।उम्मीद है कि जुलाई के पहले या दूसरे सप्ताह से आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

सेंट्रल यूनिवर्सिटी में यूजी से लेकर पीएचडी तक के लिए आवेदन -
बीबीएयू में स्नातक से लेकर पीएचडी तक के लिए आवेदन लिए जाते हैं।पिछले वर्षों में यह प्रक्रिया अप्रैल माह में शुरू हो जाती थी। ऐसे में जुलाई तक सारे प्रवेश पूरे हो जाते हैं।मौजूदा सत्र में महामारी के चलते इस प्रक्रिया को शुरू करने में देरी हुई है। विश्वविद्यालय में यूजी, पीजी, पीएचडी समेत सभी अन्य पाठ्यक्रमों की करीब 3 हजार से ज्यादा सीटें हैं।

सीटों का ब्यौरा -
मुख्य कैंपस -

  • पीएचडी - 172 सीट,
  • एमफिल - 74 सीट,
  • पीजी - 1632 सीट,
  • यूजी - 780 सीट,
  • इंटीग्रेटेड कोर्सों - 40 सीट,
  • कुल करीब - 2800 सीटे,

सेटेलाइट कैंपस - टीकरमाफी, अमेठी

  • पीजी - 60 सीट,
  • यूजी - 240 सीट,
  • इंटीग्रेटेड कोर्स - 60 सीट,
  • कुल सीट - 360,

(बीते वर्षों के आंकड़ों पर आधारित)

यह कोर्सेज की संभावित सूची -

  • यूजी - बीए ऑनर्स, बीबीए ऑनर्स, बीबीए, बीबीए एलएलबी, बैचलर इन लाइब्रेरी साइंस, बैचलर इन वोकेशन, इंटीग्रेटिड बीएससी-एमएससी, बीएससी ऑनर्स (जूलॉजी) जैसे कोर्स शामिल हैं,
  • पीजी - एमए इन हिंदी, इकोनॉमिक्स, सोशियोलॉजी, एजूकेशन जैसे कई जनरल कोर्स हैं,
  • एमएससी इन बायोटेक, जूलॉजी, आईटी, मैथ, फिजिक्स, केमिस्ट्री, फूड साइंस, लाइफ साइंस जैसे कोर्स हैं. इसके अलावा साइबर सिक्योरिटी, इंवायरमेंटल माइक्रोबायोलॉजी, न्यूक्लियर मेडिसिन टेक्नोलाॅजी, इंफॉरमेशन सिक्योरिटी, ब्रेन एंड कॉग्निशन साइंसेज और फॉरेंसिक साइंस एंड क्रिमनोलॉजी जैसे कोर्स भी हैं।

एमसीए, एमफार्मा और तीन एलएलएम के कोर्स हैं
पीएचडी- इकनोमिक्स, मासकॉम, आईटी, हिंदी, एजूकेशन, सोशियोलॉजी, मैथ, स्टेट, पॉलिटिकल साइंस, फिजिक्स, मैनेजमेंट, जूलॉजी, केमिस्ट्री, लॉ जैस विषयों समेत कुल 22 स्टडी फील्ड की 98 पीएचडी सीट हैं। एक साल के एमफिल कोर्स में फिजिक्स, हिंदी, हिस्ट्री, मैनेजमेंट, एजूकेशन, इकोनॉमिक्स और सोशियोलॉजी समेत दस विषयों में 92 सीटें उपलब्ध हैं। हालांकि, नई शिक्षा नीति में एम फिल की व्यवस्था नहीं की गई है,ऐसे में इसमें इस बार फेरबदल किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...