UP चुनाव से पहले NDA में पड़ेगी फूट?:VIP के बाद अब बिहार की HAM पार्टी की यूपी में एंट्री, लखनऊ पहुंचे जीतनराम मांझी के बेटे; बोले- हम यहां भी चुनाव लड़ेंगे

लखनऊ3 महीने पहले
उत्तर प्रदेश में पार्टी का विस्तार करने के लिए जीतन राम मांझी ने अपने बेटे को लखनऊ भेजा है।

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (NDA) में फूट पड़ने की संभावना तेज हो गई है। ऐसा इसलिए क्योंकि बिहार में BJP को समर्थन देकर सरकार बनाने वाली विकासशील इंसान पार्टी (VIP) के बाद अब जीतनराम मांझी की हम पार्टी ने भी यूपी में दस्तक दे दी है।

हम पार्टी के नेता और बिहार सरकार में SC-ST और लघु जल संसाधन मंत्री संतोष मांझी रविवार को लखनऊ पहुंचे हैं। संतोष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बेटे हैं। यहां उन्होंने ऐलान किया कि उनकी पार्टी भी यूपी में विधानसभा चुनाव लड़ेगी। इससे पहले VIP पार्टी के मुकेश साहनी यूपी में अकेले दम पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं। शनिवार को ही केंद्रीय मंत्री और RPI के अध्यक्ष रामदास आठवले ने भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने यूपी चुनाव के लिए बीजेपी से 8-10 सीटें देने की मांग की थी।

क्या बोले संतोष मांझी?
हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेकुलर) के नेता संतोष मांझी का कहना है कि बिहार में हमारा मॉडल कामयाब रहा है। हम पार्टी के जरिए हमने लोगों की मदद की। ऐसा ही मॉडल यूपी में तैयार करेंगे। जल्द ही पार्टी का विस्तार किया जाएगा। मांझी ने कहा- हम पार्टी के जरिए हर जाति-धर्म व हर वर्ग के गरीब लोगों के साथ मिलकर प्रदेश में 2022 का चुनाव लड़ेंगे और उनकी आवाज बनेंगे।

बिहार सरकार में SC-ST और लघु जल संसाधन मंत्री संतोष मांझी लखनऊ पहुंचे हैं।
बिहार सरकार में SC-ST और लघु जल संसाधन मंत्री संतोष मांझी लखनऊ पहुंचे हैं।

सोमवार को करेंगे सीएम योगी से मुलाकात
बिहार सरकार में मंत्री संतोष मांझी हम के बैनर तले उत्तर प्रदेश में कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर चुके हैं। रविवार को सीएम योगी से मुलाकात का समय संतोष मांझी ने मांगा था लेकिन गृह मंत्री अमित शाह के लखनऊ और मिर्जापुर के दौरे के चलते उन्हें मिलने का समय नहीं मिल पाया। संतोष मांझी अब सोमवार को सीएम योगी मुलाकात कर उत्तर प्रदेश के चुनाव में अपनी पार्टी हम के सिलसिले में वार्ता करेंगे।

क्या है बिहार में HAM की भूमिका?
संतोष सुमन 2015 के चुनावी दंगल में उतरे थे, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि, इस चुनाव में उन्होंने अपनी पार्टी के लिए पूरा एजेंडा सेट किया था। संतोष पॉलिटिकल साइंस में पीएचडी हैं। बिहार में 2020 के चुनाव में एनडीए में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनी है और उसके बाद जेडीयू नंबर दो की पार्टी बनी है। हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेकुलर) (HAM) पार्टी ने सात सीटों पर चुनाव लड़ा था और चार सीटें हासिल की थीं।

VIP पार्टी भी यूपी में सक्रिय

विकासशील इंसान पार्टी (VIP) बिहार में एनडीए गठबंधन में है लेकिन उत्तर प्रदेश में अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया। बिहार में VIP तीन साल पुरानी पार्टी है और अभी उसके चार विधायक और एक MLC हैं। मुकेश सहनी पार्टी मुखिया के साथ ही बिहार सरकार में पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री हैं। मुकेश सहनी निषादों के लिए अलग से आरक्षण चाहते हैं। यूपी में 6% निषाद समुदाय की आबादी है, लेकिन मुकेश सहनी कहते हैं कि निषाद की उपजातियों को मिलाकर कुल आबादी के 14% है।

मुकेश सहनी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 150 सीटें ऐसी हैं, जहां उनकी पार्टी चुनाव लड़ सकती है। इसी कड़ी में वो यूपी में अपनी पार्टी को लांच कर रहे हैं। निषाद समुदाय के बीच अपनी जगह बनाने के लिए मुकेश सहनी 25 जुलाई से दस्यु फूलन देवी की याद में समारोह का आयोजन करना था। लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने उनके कार्यक्रम की मंजूरी नहीं दी। इसके बाद उन्होंने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग की थी।

खबरें और भी हैं...