पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Uttar Pradesh Coronavirus Cases Latest Update। BJP MP Kaushal Kishor Wrote Letter To CM Yogi; 33574 New Patients Found In 24 Hours In Uttar Pradesh Lucknow Meerut Agra

UP में एक्टिव केस 3 लाख पार:BJP सांसद ने कहा- अस्पतालों में वेंटिलेटर खराब, KGMU में ICU खाली, मगर एडमिट नहीं कर रहे मरीज

लखनऊ/अयोध्या2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ में ऑक्सीजन के लिए लाइन में लगी महिला। - Dainik Bhaskar
लखनऊ में ऑक्सीजन के लिए लाइन में लगी महिला।
  • बीते 24 घंटे में प्रदेश में 33,574 नए केस मिले, 249 की हुई मौत
  • राज्य भर में आज 26,719 ठीक हुए तो लखनऊ में 4,566 नए मामले आए, 6035 ने कोरोना को दी मात

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में 33,574 नए केस आए और 249 लोगों की मौत हो गई। आज लखनऊ के हालात कुछ सुखद संकेत लेकर आए। यहां 4,566 नए संक्रमित मरीज बढ़े तो 6,035 डिस्चार्ज भी हुए हैं। 21 की मौत की मौत हुई है। इस बीच संक्रमण से अपने बड़े भाई की मौत से आहत मोहनलालगंज से सांसद कौशल किशोर ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर KGMU में बदहाली की जानकारी दी है। सांसद ने लिखा कि, बलरामपुर हॉस्पिटल में 20 में से केवल पांच वेंटिलेटर काम कर रहे हैं। KGMU के ICU बेड खाली पड़े हैं। लेकिन जनता के लिए उपलब्ध नहीं है।

KGMU के कुलपति छुट्टी पर
भाजपा सांसद कौशल किशोर ने लिखा कि, उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान KGMU के कुलपति 5 अप्रैल को कोविड की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के कारण 17 अप्रैल तक नहीं आए और उसके बाद 8 मई तक के लिए लंबे अवकाश पर दिल्ली चले गए हैं।

मीडिया में बयानबाजी न करके डॉक्टर इलाज करें
भाजपा सांसद ने लिखा कि कोविड-19 का उपचार न करके मीडियाबाजी में व्यस्त रहने वाले चिकित्सकों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। साथ ही KGMU व बलरामपुर के सभी ऑक्सीजन वाले बेड कोविड-19 पॉजिटिव मरीज के लिए रिजर्व किया जाए। जिससे बेड खाली रहते हुए कोई मरीज सड़क पर ऑक्सीजन में दवा के अभाव में दम न तोड़ पाए। इसके लिए आप से यह भी अनुरोध है कि, ऑक्सीजन युक्त बेड 6 घंटे से अधिक खाली रहने के बाद भी यदि किसी अस्पताल में लाइन में लगे। कोविड-19 मरीज को भर्ती के बिना अगर किसी की मौत होती है तो संबंधित जिम्मेदार के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा तक दर्ज किया जाए।

यूपी में कोरोना के क्या है हालात?

  • बीते 24 घंटे में: 33574 नए केस
  • बीते 24 घंटे में मौत: 249
  • 24 घंटे के अंदर डिस्चार्ज: 26,719
  • एक्टिव केस: 3,04,199
  • लखनऊ में एक्टिव केस: 50,627
  • प्रदेश में अब तक मौत: 11,414

प्राइवेट कर्मियों को कोविड होने पर मिलेगी 28 दिन की छुट्टी

प्रदेश में प्राइवेट कर्मियों को कोरोना होने पर 28 दिन का वेतन और छुट्टी मिलेगी। इसके अलावा चिकित्सा प्रमाण पत्र भी अनिवार्य है। उत्तर प्रदेश की सरकार ने आदेश जारी करते हुए निर्देश दिए हैं कि, प्राइवेट कर्मचारियों को मिलने वाला 28 दिन का वेतन अवकाश व चिकित्सा प्रमाण पत्र अनिवार्य कर दिया है। सरकार के द्वारा बंद कराए गए प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों को भी मजदूरी समेत अवकाश देना अनिवार्य किया गया है।

अपर मुख्य सचिव रमेश चंद्र ने आदेश जारी करते हुए लिखा है कि, ऐसा अवकाश केवल तभी नहीं माना जाएगा, जब ऐसे कार्य कर्मकार व कर्मचारी स्वस्थ होने के पश्चात अपने संस्थान व व्यक्तिगत शपथ पत्र को चिकित्सा प्रमाण पत्र प्रदान प्रस्तुत करेंगे। इसके अलावा दुकानों कारखानों द्वारा सरकार या जिला मजिस्ट्रेट के आदेशों से अस्थाई रूप से बंद कर्मचारियों के आदेशों से अस्थाई रूप से बंद होने के बाद कर्मचारियों व अन्य कर्मियों को ऐसी अस्थाई बंदी अवध के लिए उनके संस्थान द्वारा मजदूरी सहित अवकाश प्रदान किया जाए।

अयोध्या: कोरोना से नरेंद्र देव यूनिवर्सिटी से जुड़े तीन कृषि वैज्ञानियों की मौत

अयोध्या जिले में स्थित आचार्य नरेंद्र देव यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर के तीन कृषि वैज्ञानियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। इस तरह एक सप्ताह के अंदर मरने वाले कृषि वैज्ञानियों की संख्या बढ़ कर चार हो गई है।

बाएं से- यूपी सिंह और केके श्रीवास्तव।- फाइल फोटो।
बाएं से- यूपी सिंह और केके श्रीवास्तव।- फाइल फोटो।

मीडिया प्रभारी डॉ. अखिलेश सिंह ने बताया कि यूनिवर्सिटी में कार्यरत गेहूं और जौ की प्रजातियों पर शोध करने वाले डॉ. केके श्रीवास्तव करोना से संक्रमित थे। जिनका इलाज जिला चिकित्सालय अयोध्या में चल रहा था। अचानक ऑक्सीजन लेवल कम होने से सोमवार को उनकी मौत हो गई। डॉ. श्रीवास्तव मूल रूप से वाराणसी के निवासी थे। वहीं, प्रसार निदेशालय में सेवानिवृत्त वैज्ञानिक डॉ. पी एन सिंह और कृषि महाविद्यालय के प्रयोगशाला सहायक यूपी सिंह का भी रविवार निधन हो गया। यूनिवर्सिटी के एक दर्जन से ज्यादा कर्मचारी व कृषि विज्ञानी अभी भी कोरोना संक्रमित हैं। कुलपति डॉ. बिजेंद्र सिंह की अध्यक्षता में शोक सभा का आयोजन कर दिवंगत वैज्ञानियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

खबरें और भी हैं...