नगर निकाय चुनाव पर भाजपा का मंथन:प्रदेश अध्यक्ष और संगठन मंत्री की बैठक शुरू, पदाधिकारियों के साथ निकाय चुनाव, सेवा पखवाड़ा और MLC सीटों पर हुई चर्चा

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनावों को लेकर भाजपा की बड़ी बैठक शुरू हो गई है। अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी कर रहे हैं। बैठक में यूपी प्रभारी राधा मोहन सिंह और संगठन महामंत्री धर्मपाल के साथ प्रदेश पदाधिकारी भी शामिल हुए हैं।

बैठक में आगामी निकाय चुनाव और सेवा पखवाड़े की तैयारियों पर मंथन हुआ। भाजपा यूपी के नगर निकाय चुनावों में बड़ी जीत दर्ज करना चाहती है। लिहाजा इसके लिए नई रणनीति तैयार हुई। इस मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि पार्टी को प्रदेश में लगातार मिल रही सफलता का प्रमुख कारण पदाधिकारियों से लेकर बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं का अथक परिश्रम हैं। पीएम मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार सेवा सुशासन और गरीब कल्याण के प्रति संकल्पित होकर काम कर रही है।

PM के जन्मदिन पर होने वाले कार्यक्रमों पर चर्चा
पीएम के जन्मदिवस 17 सितम्बर से 2 अक्टूबर तक चलने वाले सेवा पखवाड़ा के तहत होने वाले कार्यक्रमों की योजना पर चर्चा हुई। आगामी नगर निकाय के चुनावों और विधान परिषद के शिक्षक व स्नातक क्षेत्र के चुनावों को लेकर भी बैठक में चर्चा हुई। प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह और प्रदेश महामंत्री धर्मपाल सिंह ने पार्टी के महिला, युवा, किसान, अनुसूचित जाति जनजाति व अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों के साथ बैठक कर सेवा पखवाड़ा के अंतर्गत होने वाले कार्यक्रमों व अभियानों पर चर्चा की।

पार्टी कार्यालय में पदाधिकारियों की बैठक।
पार्टी कार्यालय में पदाधिकारियों की बैठक।

सेवा पखवारें की पर होने वाले कार्यक्रम

  • 17 सितम्बर को युवा मोर्चा द्वारा सभी प्रशासनिक जिलों में रक्तदान शिविर लगाकर रक्तदान किया जाएगा।
  • 18 सितम्बर को जिला स्तर पर निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर एवं स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जाएगा।
  • 19 सितम्बर को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के व्यक्तित्व पर प्रदर्शनी लगायी जाएगी।
  • 20 सितम्बर को भाजपा कार्यकर्ता मण्डल व वार्ड स्तर पर स्वच्छता अभियान चलाएगें।
  • 21 सितम्बर को भी स्वच्छता अभियान चलाते हुए प्रदेश में सभी निर्माणाधीन अमृतसरोवरों पर स्वच्छता अभियान चलाते हुए श्रम दान करना है।
  • 22 सितम्बर को मण्डल व ग्राम स्तर तक जल ही जीवन के मंत्र के साथ लोगों तक पहुंचना है और जल संरक्षण को लेकर लोगों को जागरूक करने का अभियान चलाया जाएगा।
  • 23 सितम्बर को वोकल फॉर लोकल कार्यक्रम का आयोजन करना है।
  • 24 सितम्बर को सभी प्रशासनिक जिलों में कृतिम अंग उपकरणों के वितरण हेतु कैम्प लगाये जाएगें।
  • 25 सितम्बर को प्रदेश के सभी बूथों पर दीनदयाल उपाध्याय जी की जयन्ती मनाया जाएगा।
  • 26 सितम्बर को ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत‘ का संदेश देते हुए जिला स्तर पर ‘विविधता में एकता‘ कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।
  • 27 सितम्बर को बूथ स्तर पर लाभार्थियों से सम्पर्क का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।
  • 29 सितम्बर को कोविड टीकाकरण केन्द्रों पर पार्टी कार्यकर्ता स्टाल लगाएगें।
  • 30 सितम्बर को टीवी मुक्त राष्ट्र के संकल्प के साथ मंडल व वार्ड स्तर रोगी के भोजन, पोषण के संदर्भ में सेवा कार्य करना है।
  • 1 अक्टूबर को पूरे प्रदेश में बूथ स्तर पर कम से कम 5 वृक्ष लगाने का कार्यक्रम है।
  • 2 अक्टूबर यानी गांधी जयन्ती के दिन खादी की खरीद एवं जागरूकता अभियान चलाकर सभी कार्यकर्ता स्वदेशी,खादी, स्वाबलम्बन, सादगी एवं स्वच्छता के बारे में जागरूकता अभियान चलाएगें।

90% सीटें जीतने का लक्ष्य
भाजपा में नगरीय निकाय यानी नगर पंचायत, नगर पालिका और नगर निगम चुनाव में 90% सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। भाजपा का टारगेट यूपी में नगर निकाय चुनाव में सभी 17 नगर निगम और 200 नगर पालिका परिषद के साथ अधिकांश नगर पंचायतों में भगवा फहराने का लक्ष्य रखा है। प्रदेश में नवंबर-दिसंबर में कुल 756 नगरीय निकाय संस्थाओं में चुनाव होना है।

जीत के लिए भाजपा का रोड मैप

  • पहली बार चुनाव संयोजक की नियुक्ति: 11-12 सितंबर को जिला स्तर पर और 14-15 सितंबर तक मंडल स्तर की बैठकें कर सभी नगरीय निकायों में चुनाव संयोजक नियुक्त किए जाएंगे।
  • मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम: बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को अभियान में अधिक से अधिक लोगों के नाम मतदाता सूची में जुड़वाने का लक्ष्य।
  • 15 दिन में तीन करोड़ लोगों तक पहुंचेगी भाजपा: 17 सिंतबर से 2 अक्टूबर तक चलने वाले सेवा सप्ताह के जरिए सरकार के मंत्री और संगठन के पदाधिकारी, कार्यकर्ता 15 दिन में विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से तीन करोड़ से अधिक लोगों के बीच पहुंचेंगे।
  • PM मोदी के जन्मदिन पर सेवा पखवाड़ा: सेवा पखवाड़ा के जरिए ही निकाय चुनाव के लिए माहौल तैयार किया जाएगा।

752 नगर निकायों में होने हैं चुनाव
उत्तर प्रदेश में इस बार 17 नगर निगमों में मेयर और पार्षदों के साथ ही 200 नगर पालिका परिषद और 535 नगर पंचायतों में चेयरमैन साथ सभासदों का चुनाव होना है। वार्ड और मोहल्ले की राजनीति में हिंसा और उत्पात की सबसे ज्यादा गुंजाइश बनी रहती है, ऐसे में डिजिटल वॉलेंटियर्स सी-प्लान ऐप पुलिस की काफी मदद करेगा।