BJP के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में विपक्षी दलों पर निशाना:CM योगी बोले- देवताओं पर टिप्पणी करना एक्सीडेंटल हिन्दू की प्रवृत्ति, हमारे लिए दल से बड़ा देश

लखनऊ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ में भाजपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित करते सीएम योगी आदित्यनाथ। - Dainik Bhaskar
लखनऊ में भाजपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित करते सीएम योगी आदित्यनाथ।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी भाजपा सरकार प्रदेश में हर वर्ग तक पहुंचने में लगी है। इसी कड़ी में यूपी के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में होने 5 सितंबर से प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन शुरू हो चुका है। शनिवार को लखनऊ स्थित अलीगंज में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन का आयोजन किया गया। यहां सीएम योगी ने विपक्षी दलों के साथ ही देवी-देवताओं पर टिप्पणी करने वालों पर जोरदार हमला बोला।

सीएम योगी ने कहा कि आजकल तो देवी-देवताओं पर अनर्गल टिप्पणी करने वाले काफी लोग सामने आ रहे हैं। मेरा मानना है कि हमारे देवी-देवताओं पर टिप्पणी करना एक्सीडेंटल हिंदू की प्रवृत्ति है। देवी-देवताओं पर टिप्पणी करना, राम और कृष्ण को नकारना उनकी प्रवृत्ति का हिस्सा है, अब कोई एक्सीडेंटल हिंदू होगा तो यही तो होगा।

आगे सीएम ने कहा कि एक पार्टी आप देख रहे हैं। आपदा आती है तो इटली चले जाते हैं। उनको यूपी से सब-कुछ चाहिए, मगर देंगे कुछ नहीं। वे एक्सीडेंटल हिंदू हैं। एक्सीडेंट बार-बार नहीं दोहराने देंगे। उसको हमारे देश की संस्कृति, धर्म तथा विभिन्न प्रकार की सभ्यता से तो परिचित होना ही होगा। योगी ने यह भी कहा कि हमें गर्व होना चाहिए कि अयोध्या, मथुरा, काशी व गंगा, यमुना और सरस्वती, त्रिवेणी संगम, प्रयागराज उत्तर प्रदेश में हैं। हमें इन आस्था के केंद्र पर गौरव की अनुभूति होनी चाहिए।

हमारे लिए दल से बड़ा देश
प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में सीएम योगी ने आगे कहा कि हमारे लिए व्यक्ति से बड़ा दल है और दल से बड़ा देश है। भाजपा के कार्यकर्ता के लिए सत्ता प्राप्त करना और शासन करना मात्र लक्ष्य नहीं है। भाजपा मूल्यों और आदर्शों को लेकर राजनीति में आई है, जिससे देश की आस्था जुड़ी है।

कोरोना प्रबंधन को लेकर की पीएम मोदी की तारीफ
योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि सदी की इस कोरोना महामारी के दौरान अमेरिका के मुकाबले प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारत का कोरोना प्रबंधन बेहतरीन रहा। मोदी जी ने पूर्वोत्तर राज्यों के साथ संवाद स्थापित किया, जो आजादी के बाद से अधूरा था। सीएम ने दावा किया है कि उत्तर प्रदेश ने भी कोरोना प्रबंधन का मॉडल सेट किया है।

क्या है BJP की प्लानिंग ?

लोगों की नाराजगी समझना: कोरोनाकाल और पिछले साढ़े चार साल के कार्यकाल के दौरान BJP सरकार से कुछ लोग खुश हुए तो कुछ नाराज भी हुए। सरकार और संगठन अब इस प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के जरिए इसी का पता करने की कोशिश करेगी। सम्मेलन में विधानसभा क्षेत्र के प्रतिष्ठित लोगों को बुलाया जाएगा, जैसे की प्रोफेसर, शिक्षक, इंजीनियर, डॉक्टर, साहित्यकार, बिजनेसमैन, सीए, खिलाड़ी, अधिवक्ताओं को आमंत्रित किया जाएगा। इन सभी से जनता की नाराजगी को मालूम करके उसे समय रहते दूर करने की कोशिश होगी।

घोषणा पत्र के लिए फीडबैक: इन सम्मेलन के जरिए BJP अपने चुनावी घोषणा पत्र के लिए फीडबैक भी लेगी। हर चुनाव से पहले BJP ने फीडबैक लेने का सिस्टम तैयार किया है। इसके बाद इन सभी फीडबैक को कंपाइल करके उसमें से कॉमन पॉइंट या जिनमें ज्यादा जनता प्रभावित हो रही हो उसे अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करते हैं।

चुनावी माहौल तैयार करना: BJP अभी से चुनावी माहौल तैयार करने में जुटी है। उत्तर प्रदेश में अपराध रोकने के लिए बदमाशों के एनकाउंटर, उनकी संपत्तियों को कुर्क करने जैसा मुद्दा उठाया जाएगा। राम मंदिर और काशी कॉरिडोर का जिक्र भी इन सभाओं में किया जाएगा।