अदिति सिंह भाजपा में शामिल:रायबरेली से हैं कांग्रेस विधायक; आजमगढ़ की सगड़ी सीट से बसपा विधायक वंदना ने भी BJP जॉइन किया

लखनऊ12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बुके देकर दोनों का पार्टी में स्वागत किया। - Dainik Bhaskar
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बुके देकर दोनों का पार्टी में स्वागत किया।

यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस और बसपा को झटका लगा है। कांग्रेस की रायबरेली सदर सीट से विधायक अदिति सिंह ने भाजपा जॉइन कर लिया है। उनके साथ ही आजमगढ़ की सगड़ी सीट से बसपा विधायक वंदना सिंह भी भाजपा में शामिल हो गई हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में लखनऊ में दोनों ने भाजपा जॉइन किया।

पति के कांग्रेस में होने पर अदिति बोली-ये उनका स्टैंड है
अदिति सिंह से पूछा गया कि उन्होंने भाजपा का झंडा पकड़ लिया है, जबकि उनके पति अंगद सिंह पंजाब में कांग्रेस का विधायक हैं। इस पर अदिति ने कहा कि वह उनका स्टैंड है। भाजपा में जाना उनका स्टैंड है। इसके साथ उन्होंने कांग्रेस छोड़ने पर कहा कि कांग्रेस ने कभी महिलाओं का सम्मान नही किया। उनकी शादी के अगले दिन ही उनको नोटिस दे दिया था।

मैं कांग्रेस की एक महिला विधायक हूं, लेकिन पार्टी ने मुझे सम्मान नहीं दिया

भाजपा में सदस्यता के वक्त अदिति सिंह और वंदना ने मीडिया के सवालों के जवाब भी दिए।
भाजपा में सदस्यता के वक्त अदिति सिंह और वंदना ने मीडिया के सवालों के जवाब भी दिए।

अदिति सिंह ने दैनिक भास्कर को बताया कि अब कांग्रेस में कुछ भी बचा नही है। कांग्रेस को सोचना चाहिए कि आखिर पार्टी के नेता क्यों छोड़ रहे हैं। पार्टी अंदर से टूट गई है। धीरे धीरे एक -एक कर जनाधार वाले नेता पार्टी से बाहर जा रहे हैं।

मैं कांग्रेस की एक महिला विधायक हूं। लेकिन पार्टी ने मुझे सम्मान नहीं दिया। मेरी शादी के अगले दिन ही मुझे नोटिस दे दिया गया। मैं सच का साथ दे रही थी। तो मेरे ऊपर कारवाई की बात हो रही थी। कांग्रेस पार्टी ने आखिर महिलाओं के लिए किया क्या है। मैं भाजपा की नीतियों से प्रभावित होकर पार्टी में आई हूं।

अखिलेश सिंह की बेटी, 2017 में बनी थी विधायक

अदिति सिंह रायबरेली सदर से कांग्रेस की सीट पर 2017 में पहली बार विधायक बनी थीं। हालांकि, अदिति सिंह की सबसे बड़ी पहचान है कि वह बाहुबली अखिलेश सिंह की बेटी हैं। अखिलेश सिंह पांच बार के विधायक रहे, कुछ वक्त पहले उनका निधन हुआ है। निधन के बाद से ही अदिति भाजपा के ज्यादा करीब आई हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने खुलकर कांग्रेस के खिलाफ बोला। 21 नवंबर 2019 को अदिति सिंह ने पंजाब के कांग्रेस विधायक अंगद सैनी से शादी कर ली थी।

अदिति ने कहा था कांग्रेस महासचिव केवल स्टंट कर रही हैं

अदिति सिंह ने कहा था कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी केवल स्टंट कर रही हैं। अगर वह महिलाओं के लिए जागरूक होती तो सबसे पहले अपने निजी सचिव संदीप सिंह के खिलाफ कार्रवाई करतीं, जिस पर महिला से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज हुआ है।

सूत्रों के मुताबिक उनके भाजपा में जाने का बड़ा नुकसान उनके पति अंगद सिंह सैनी को हो सकता है। वह पंजाब की नवांशहर सीट से विधायक हैं। रायबरेली, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है। ऐसे में अदिति का भाजपा में शामिल होना, उनके पति के लिए भारी पड़ सकता है।

सर्वेश की हत्या के बाद मायावती ने वंदना को दिया था टिकट

सगड़ी के राम प्यारे सिंह मुलायम सिंह यादव के मुख्यमंत्री काल में कैबिनेट मंत्री थे। वहीं उनके बेटे सर्वेश सिंह सीपू सगड़ी से ही विधायक चुने गए। 2012 में सर्वेश सगड़ी से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े लेकिन हार गए। 2013 में सर्वेश सिंह की हत्या कर दी गई। उसके बाद 2017 में सर्वेश सिंह सीपू की पत्नी वंदना सिंह को मायावती ने टिकट दिया। इसी चुनाव में वंदना सिंह बसपा से जीतकर विधानसभा पहुंचीं।