दिल्ली एयरपोर्ट का मानव तस्कर गिरफ्तार:यूपी एटीएस पकड़कर लायी लखनऊ, 15 हजार रुपए में विदेश पहुँचाने का लेता था ठेका

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी एटीएस ने बांग्लादेशी नागरिकों की तस्करी कर विदेश में बेचने वाले गिरोह के मुख्य सदस्य को सहारनपुर से गिरफ्तार किया है। आरोपी दिल्ली के इंदिरागांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर नौकरी करता था। इसके कई साथियों को पहले ही पकड़ा जा चुका है।

आईजी ATS जीके गोस्वामी ने बताया कि यूपी के रास्ते बांग्लादेशी नागरिकों की तस्करी करने वाले गैंग के कई सदस्यों को पकड़ा जा चुका है। पूछताछ के आधार पर इनकी दिल्ली में मदद करने वाला विक्रम सिंह 10 नवम्बर को गाजियाबाद से गिरफ्तार हुआ था। उसको रिमांड पर लेकर पूछताछ की गयी तो पता चला कि वह दिल्ली एयरपोर्ट पर अपने एक सहयोगी अजय घिल्डियाल के माध्यम से उन व्यक्तियों को जिनका फर्जी पासपोर्ट व वीजा बनाकर विदेश भेजा जाता था, उन्हें इसी के माध्यम से एयरपोर्ट पर आसानी से बोर्डिंग पास बनवाया जाता है। विक्रम से इसका परिचय लंदन में रहने वाले गुरप्रीत सिंह ने कराया था। इस सूचना पर एटीएस टीम सहारनपुर से अजय घिल्डियाल को गिरफ्तार कर लखनऊ ले आयी।

कस्टमर सर्विस में करता था जॉब, 15 हजार में करवाता था बोर्डिंग

एटीएस ने गुरुवार को पकड़े गए अजय को न्यायालय में पेश किया। इससे पहले उससे पूछताछ से यह पता चला कि वह 2016 से इन्दिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट दिल्ली में एयर इंडिया में कस्टमर सर्विस का काम करता था। वह एयरपोर्ट पर गलत तरीके से विदेश भेजे जाने वाले व्यक्तियों के उनके एजेन्टों के माध्यम से पैसे लेकर उनकी बोर्डिंग में कोई रुकावट न हो इसके लिए मदद करता था। इसके लिए प्रति व्यक्ति 15000 रुपया लेता था। इस पैसे को संबन्धित एयरलाइंस के मौजूदा ड्यूटी कर्मचारियों में बटवारा किया जाता था। 2020 में अजय की मुलाकात विक्रम व गुरप्रीत से हुई यही। गुरप्रीत लगातार फोन के माध्यम से अजय के संपर्क में था। उसने बताया कि अब तक 35 से 40 व्यक्तियों को स्पेन, ब्रिटेन व अन्य यूरोपीय देशों में इसी तरह कमीशन लेकर भिजवाने में मदद कर चुका है। पूछताछ से इसके अन्य कई सहयोगियों का नाम भी पता चला है जो इसका सहयोग एयरपोर्ट पर करते थे।

गिरोह की जानकारी जुटाने के लिए मिली 10 दिन की रिमांड

आईजी ने बताया कि अजय की पुलिस कस्टडी रिमांड के लिए एटीएस ने कोर्ट में अर्जी दी थी। न्यायालय ने 19 नवम्बर से 10 दिन पुलिस कस्टडी रिमाड स्वीकृत किया है। पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर अजय से उसके बैंक खातों मोबाइल डाटा का विधिवत विश्लेषण एवं उसके संबंध में पूछताछ होगी। इन्दिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर इसके अन्य सहयोगियों के संबंध में एवं इनके कार्य प्रणाली के संबंध में पूछताछ की जाएगी। पहले से रिमांड पर चल रहे उसके सहयोगियों से उसका आमना सामना भी कराया जाएगा।

आरोपी का विवरण

अजय घिल्डियाल पुत्र स्व कीर्तिराम घिल्डियाल निवासी रतनपुर नया गाव थान पटेलनगर देहरादून

खबरें और भी हैं...