पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूपी की स्वास्थ्य व सड़क व्यवस्था पर बसपा का सवाल:मायावती ने कहा, कानून व स्वास्थ्य व्यवस्था की तरह ही यहां के सड़कों की भी दुर्दशा व खस्ताहाली से आम जनजीवन काफी बेहाल

लखनऊ9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मायावती ने योगी सरकार को केवल नारे व दावे करने वाला बताया है।  - Dainik Bhaskar
मायावती ने योगी सरकार को केवल नारे व दावे करने वाला बताया है। 

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को घेरते हुए बसपा सुप्रीमों मायावती ने तीन अलग-अलग सवाल उठाए है। मायावती ने कहा कि, यूपी में कानून व स्वास्थ्य व्यवस्था की तरह ही यहां के सड़कों की भी दुर्दशा व खस्ताहाली से आम जनजीवन काफी बेहाल है। बसपा प्रमुख ने कहा कि, गड्‌डों में पानी भर जाने से सड़क हादसों व इसमें होने वाली दर्दनाक मौतों की खबरों से अखबार भरे पड़े हैं। यह अति दु:खद व सरकार की विफलता का जीता जागता प्रमाण है। मायावती ने योगी सरकार को केवल नारे व दावे करने वाला बताया है।

सड़कों में गड्डा है या गड्डे में सड़क
मायावती ने प्रदेश सरकार से सवाल करते हुए कहा कि, सड़कें लोगों की बुनियादी ज़रूरत व विकास से विशेषतः जुड़ी हुई हैं। इनके बारे में भी सरकार चाहे जितने भी नारे व दावे कर ले लेकिन यूपी के सड़कों की हालत फिर से इतनी ज्यादा खराब हो गई हैं। लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि सड़कों में गड्डा है या गड्डे में सड़क। प्रदेश सरकार का ध्यान देना चाहिए।

एक दिन पहले बाढ़ से तबाही व बर्बादी पर सवाल
मायावती ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा था कि, यूपी के खासकर पूर्वांचल में बाढ़ के कारण इस वर्ष फिर व्यापक तबाही व बर्बादी से लाखों परिवारों का जीवन अति-बेहाल हो गया है। आपेक्षित सरकारी मदद ज्यादातर कागजी व हवा-हवाई होने से बेघर हुए लोगों का जीवन अति कष्टदायी बना हुआ है, जो बेहद दुःखद। सरकार तुरन्त उचित कदम उठाए। स्पष्टतः उचित सरकारी मदद के अभाव में अति-विपदा में जीवन व्यतीत कर रहे लोगों को अपने सामर्थ्य के हिसाब से मदद करने वाले बीएसपी के लोगों से पुनः अपील है कि वे बाढ़ पीडितों को बेसहारा न छोड़ें तथा उनके प्रति अपनी मानवीय जिम्मेदारी का यथासंभव निर्वहन जारी रखें।

खबरें और भी हैं...