UP में मिशन Election:CM योगी ने Tweet कर इशारों साधा अखिलेश यादव पर निशाना, कहा- CAA उपद्रविओं के समर्थन में खड़ा था पूरा खानदान

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ। फाइल फोटो

उत्तर-प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सीएम योगी के तेवर बदल गये हैं। अब वो विपक्ष पर खुलकर हमला बोल रहे हैं। सोमवार को योगी ने एक के बाद एक कई Tweet कर विपक्ष को आड़े हाथ लिया। लिखा, लखनऊ में एक परिवार है, वह कोरोना काल में कहीं नहीं निकला, लेकिन जब CAA के विरोध में उपद्रवी सड़कों पर आगजनी करने आ रहे थे, तो उनके समर्थन में पूरा खानदान निकल पड़ा था।

दरअसल, लखनऊ में NRC और CAA के विरोध में चले आंदोलन में अखिलेश यादव के बेटी भी अपने दोस्तों के समर्थन में पहुंची थी। अखिलेश यादव ने भी CAA प्रोटेस्ट का समर्थन किया था। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने भी CAA के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन का समर्थन किया था। लखनऊ में प्रियंका गांधी प्रदर्शनकारियों के घर भी समर्थन देने पहुंचीं थी।

महाराणा प्रताप के बदले अकबर को महान बताना है तुष्टिकरण
सीएम योगी ने कहा कि तुष्टिकरण की घृणित राजनीति करने वालों ने महाराणा प्रताप की बजाय अकबर को महान बना दिया। विदेशी आक्रांताओं के महिमामंडन में ऐसे शब्द गढ़े गए कि समाज भ्रमित हो जाए। यदि हिंदू समाज महाराजा सुहेलदेव के पराक्रम से प्रेरणा लेता तो कोई विदेशी आक्रांता ‘अयोध्या जी’ में श्री राम मंदिर को क्षतिग्रस्त करके हिंदू समाज को अपमानित करने का दुस्साहस नहीं कर पाता। कोरोना कालखंड के दौरान विपक्षी नेता ट्विटर पर खेल रहे थे, चुनाव में भी उन्हें ट्विटर पर ही खेलने के लिए छोड़ देने की आवश्यकता है।

हमारा धर्म सिर्फ राष्ट्र धर्म है
सीएम ने विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि जो भी राष्ट्र धर्म के मूल्यों को रौंदकर अपने स्वार्थ के लिए सत्ता की चाटुकारिता करता हुआ दिखाई देगा, समाज उसको कूड़ेदान में फेंक कर हमेशा के लिए भुला देगा। सीएम ने कहा कि हमारा कोई धर्म नहीं, कोई मत और मजहब नहीं, कोई उपासना विधि नहीं, बस एक ही धर्म है ‘राष्ट्रधर्म’।

पिछली सरकारों में सिर्फ अपने खानदान के लिए काम होता था
​​​​​​​योगी ने कहा कि सर्वांगीण विकास पिछली सरकारों का ध्येय नहीं था। वे तो केवल खानदान के लिए काम करते रहे। समाज में हर तबके का सम्मान है, उन्हें उनका अधिकार मिले, शासन की योजनाओं का लाभ समान रूप से सबको प्राप्त हो, यही तो भारतीय जनता पार्टी कहती है। आजादी के बाद तुष्टिकरण की जो राजनीति देश में चल रही थी, उस तुष्टिकरण की राजनीति को हमेशा के लिए समाप्त करेंगे। हमारे लिए ओबीसी, एससी-एसटी, महिला या युवा मोर्चा समाज को जोड़ने का माध्यम हैं, समाज के प्रत्येक तबके को जागरूक करने के लिए हैं।

खबरें और भी हैं...