CBSE 10वीं का रिजल्ट जारी:लखनऊ की छात्रा निवेदिता और सिद्धि के 99.4% नंबर, बोर्ड ने जारी नहीं किए टॉपर, यहां देखें नतीजें

लखनऊएक वर्ष पहले
CBSE यानी सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ने आज दोपहर 12 बजे 10वीं के नतीजे जारी कर दिए।

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने मंगलवार को 10वीं के नतीजे जारी कर दिए। स्टूडेंट्स ऑफिशियल वेबसाइट cbseresults.nic.in के जरिए अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। इसके अलावा डिजीलॉकर और SMS के जरिए भी रिजल्ट देख सकते हैं।

CBSE 10वीं का रिजल्ट जारी:99.04% स्टूडेंट्स पास, लड़कों के मुकाबले 0.35% ज्यादा लड़कियां पास; त्रिवेंद्रम रीजन टॉप, अजमेर 5वें और भोपाल 9वें नंबर पर

बीते वर्षों की तरह इस बार भी लखनऊ के स्कूलों का प्रदर्शन शानदार रहा। इंदिरा नगर सी-ब्लॉक स्थित रानी लक्ष्मीबाई स्कूल की छात्रा निवेदिता और सिद्धि गुप्ता ने 99.4% अंक हासिल किए। इस साल प्रदेश में करीब 2 लाख स्टूडेंट्स 10वीं में थे। जबकि लखनऊ में 10वीं के रजिस्टर्ड स्टूडेंट्स की संख्या 19,636 है।

CBSE कोऑर्डिनेटर स्वेता अरोड़ा के मुताबिक 12वीं की ही तरह 10 का रिजल्ट भी बोर्ड द्वारा सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। जो भी स्टूडेंट्स रिजल्ट से संतुष्ट नही होंगे उनके लिए एग्जाम का ऑप्शन जरूर रहेगा। इससे पहले 30 जुलाई को CBSE ने 12वी का रिजल्ट जारी किया था।

साल में सबसे बेहतर सेशन को रेफरेंस ईयर माना

इस साल रिजल्ट के लिए पिछले 3 साल में स्कूल के सबसे बेहतर नतीजे वाले साल को आधार वर्ष (रेफरेंस ईयर) माना गया है। विषयवार अंक तय करने का भी यही तरीका रहा। रेफरेंस ईयर में सभी छात्रों के औसत अंक के हिसाब से ही इस बार का रिजल्ट तैयार किया गया है। हालांकि छात्रों के विषयवार अंक औसत अंकों से 2 अंक कम या ज्यादा हो सकते हैं।

इस फॉर्मूले से जोड़े गए 100 अंक

  • 20 अंक - इंटरनल असेसमेंट
  • 10 अंक - यूनिट टेस्ट/पीरियोडिक टेस्ट
  • 30 अंक - मिडटर्म/ हाफ ईयरली टेस्ट
  • 40 अंक - प्री-बोर्ड एक्जामिनेशन

लखनऊ के टॉप स्कोरर से बातचीत

प्रियांश के पिता हेमंत कहते हैं कि बेटो को यह लगता है कि एग्जाम देकर उसे थोड़े ज्यादा अंक मिल जाते पर बोर्ड का यह निर्णय स्टूडेंट्स समेत सभी के हित में था।
प्रियांश के पिता हेमंत कहते हैं कि बेटो को यह लगता है कि एग्जाम देकर उसे थोड़े ज्यादा अंक मिल जाते पर बोर्ड का यह निर्णय स्टूडेंट्स समेत सभी के हित में था।
  • लखनऊ की टॉप स्कोरर में रही सृष्टि ने 99.4% मार्क्स अर्जित किए है। वह आगे चल कर आईटी की फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहती है। उनके पिता अरविंद मिश्र निजी फाइनेंशियल एडवाइजर हैं और माता भूमिजा गृहणी हैं।
  • आरएलबी, इंदिरानगर की स्टूडेंट सिद्धि गुप्ता ने 99.4% मार्क्स हासिल किए हैं। वह आगे चलकर सिविल सर्विसेज जॉइन करना चाहती हैं। उनके पिता व्यवसायी हैं।
  • आरएलबी सेक्टर 3 के स्टूडेंट मो. फहीम ने 99.2% स्कोर किए हैं। वह डॉक्टर बनकर गरीबों का मुफ्त इलाज करना चाहते हैं। उनके पिता होम गार्ड विभाग में है।
  • लखनऊ के प्रियांश ने 98.6% स्कोर हासिल किया। वह कॉमर्स स्ट्रीम में ही फ्यूचर बनाना चाहते हैं। उनका लक्ष्य आईआईएम में पढ़ाई करना है। उनके पिता हेमंत व्यवसायी हैं।
मोहम्मद फहीम डॉक्टर बनकर गरीबों की सेवा करना चाहते हैं।
मोहम्मद फहीम डॉक्टर बनकर गरीबों की सेवा करना चाहते हैं।

इस साल भी मेरिट लिस्ट जारी नहीं

इस साल कोरोना के चलते 10वीं की परीक्षा रद्द कर दी गई थी। जिसके बाद बोर्ड ने इंटरनल असेसमेंट स्कीम के आधार पर रिजल्ट जारी करने का फैसला लिया था। ऐसे में इस साल भी बोर्ड मेरिट लिस्ट जारी नहीं की गई है। वहीं, रिजल्ट से असंतुष्ट स्टूडेंट्स को दोबारा परीक्षा देने का भी मौका दिया जाएगा।

एक्सपर्ट की राय- स्टूडेंट सेंट्रिक रिजल्ट

प्राचार्य सीबी पी वर्मा ने कहा, अपेक्षाओं के अनुरुप रहा रिजल्ट।
प्राचार्य सीबी पी वर्मा ने कहा, अपेक्षाओं के अनुरुप रहा रिजल्ट।

गोमती नगर स्थित केंद्रीय विद्यालय के प्राचार्य सीबी पी वर्मा ने कहा, CBSE द्वारा घोषित बोर्ड परिणाम अभी तक ज्यादातर स्टूडेंट्स व स्कूल्स की अपेक्षाओं के अनुरूप रहा है। 12वीं के बाद आज हाई स्कूल के रिजल्ट जारी हुए हैं। इवैल्यूएशन के लिए सधे फॉर्मूले को इजाद किया गया था और अभी तक मिल रही जानकारी के अनुसार उसका इम्प्लीमेंटेशन भी सही तरीके से हुआ है। परिणाम में छात्रों के विविध परीक्षाओं में प्रदर्शन को शामिल किया गया है, इसलिए इसे स्टूडेंट सेंट्रिक रिजल्ट भी कहा जा सकता है।

राजधानी में CBSE के स्कूल
लखनऊ रीजन में 49 केंद्रीय विद्यालय हैं, जबकि लखनऊ में 10 स्कूल हैं।
आर्मी पब्लिक स्कूल (तीनों शाखाएं)
रानी लक्ष्मीबाई स्कूल
नवोदय विद्यालय
अवध कॉलेजियेट
एसकेडी स्कूल
लखनऊ पब्लिक स्कूल्स एंड कॉलेजेज
लखनऊ पब्लिक कॉलेजिएट

खबरें और भी हैं...