लॉकडाउन में जॉब छूटने से डिप्रेशन में था:लखनऊ इंजीनियर ने पिता की रिवाल्वर से गोली मारकर की आत्महत्या, पुलिस को मिला सुसाइड नोट

लखनऊ9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखनऊ की सबसे पॉश टाउनशिप सुशांत गोल्फ सिटी में रहने वाले सिविल इंजीनियर ने शुक्रवार रात पिता की रिवाल्वर से गोली मारकर खुदकुशी कर ली। परिजनों ने पुलिस को बताया कि लॉकडाउन में जॉब छूटने से डिप्रेशन का शिकार हो गया था। हालांकि पुलिस को उसके कमरे से सुसाइड नोट मिला। जिसे वह सार्वजनिक करने से बच रही है।

अंसल एपीआई सुशांत गोल्फ सिटी के 28 पाम विला निवासी संजय भारतीया का बेटा सागर तिवारी (28) बीटेक की पढ़ाई करके नोएडा की एक कंपनी में जॉब करता था। संजय की उन्नाव में रसोई गैस की एजेंसी है। घरवालों के मुताबिक पिछले साल लॉकडाउन में सागर की जॉब चली गई थी। काफी प्रयास के बाद भी दूसरी नौकरी नहीं मिली तो वह लखनऊ में घर पर ही रहने लगा। इसकी वजह से डिप्रेशन का शिकार हो गया और उसका इलाज चल रहा था। शुक्रवार देर रात उसने संजय के अलमारी से उनकी लाइसेंसी रिवाल्वर निकाली और अपनी कनपटी पर गोली दाग ली। परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

सुसाइड नोट में छुपा है सागर की मौत का राज

घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस को सागर के कमरे से दो पन्ने का सुसाइड नोट मिला। इसमे उसने यह आत्मघाती कदम उठाने की सही वजह लिखी है। लेकिन पुलिस सुसाइड नोट के बारे में कुछ भी साझा करने से बच रही है। इंस्पेक्टर विजयेंद्र सिंह का कहना है कि बेटे की मौत से परिवार अभी सदमे में है। स्थित सामान्य होने पर सुसाइड नोट के बारे में उन्हें जानकारी दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...