पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • CM Yogi Adityanath Birthday Latest Updates । BJP Strategy For UP Election 2022; PM Narendra Modi Didn't Birthday Wishes To UP CM Yogi Adityanath

दिल्ली से लखनऊ तक क्या चल रहा है:PM मोदी और शाह के CM योगी को "खास बधाई" नहीं देने के क्या हैं मायने, कहीं कोई नाराजगी तो नहीं

लखनऊ9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शनिवार को 49वां जन्मदिन था। उनका जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में हुआ था।- फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शनिवार को 49वां जन्मदिन था। उनका जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में हुआ था।- फाइल फोटो

क्या दिल्ली और लखनऊ के बीच सब कुछ ठीक नहीं है? ये सवाल इसलिए उठ रहा है, क्योंकि सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा गरम है। सवाल यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने फायर ब्रांड नेता यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को सोशल मीडिया पर जन्मदिन की बधाई क्यों नहीं दी। इतना ही नहीं गृहमंत्री अमित शाह और जेपी नड्डा ने भी योगी को ट्वीट कर बधाई नहीं दी। इस पर दिल्ली से लखनऊ तक सियासी गलियारे में चर्चा हो रही है।

सरकार का दावा... राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री समेत कई नेताओं ने किया फोन
इस बीच यूपी सरकार के सूचना विभाग ने बताया कि देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, बसपा अध्यक्ष मायावती और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने 5 जून को फोन कर सीएम को जन्मदिन की बधाई दी है। बाबा रामदेव, छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह, गजेंद्र सिह शेखावत समेत कई राज्यों के राज्यपाल ने भी योगी को जन्मदिन की बधाई दी है। सरकार के सूचना विभाग के कहना है कि वाराणसी, अयोध्या, मथुरा, प्रयागराज और गोरखपुर के साधु संतों ने भी योगी को जन्मदिन के मौके पर अपना आशीर्वाद दिया है।

हालांकि, सोशल मीडिया पर उठ रहे सवालों का जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के ट्वीटर अकाउंट देखने पर मिल सकता है। सोशल मीडिया पर बेहद सक्रिय, घोर विरोधियों को भी बधाई संदेश देने वाले नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीटर हैंडल से पिछले कुछ दिनों से अपने पार्टी के किसी नेता, कैबिनेट के सहयोगी, विपक्षी पार्टी के या फिर किसी भी शख्स को जन्मदिन की बधाई नहीं दी है। यही स्थिति अमित शाह के ट्वीटर हैंडल की है। पिछले कुछ दिनों से इनके ट्वीटर हैंडल से किसी को जन्मदिन की बधाई संदेश नहीं दिया गया।

27 मई को नितिन गडकरी के जन्मदिन के मौके पर भी ट्वीटर पर बधाई जैसा कुछ भी नहीं लिखा गया। इसके अलावा 18 मई को थावरचंद गहलोत का जन्मदिन था, 24 मई को केरल के मुख्यमंत्री, 3 मई को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और 5 मई को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भी पीएम और अमित शाह ने ट्वीटर पर जन्मदिन की बधाई नहीं दी है।

भाजपा ने अटकलों को खारिज किया
दरअसल, उत्तर प्रदेश में बीते दो सप्ताह से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा के केंद्रीय नेताओं की बैठकों का दौर चल रहा। इसके साथ ही चर्चा उठी कि यूपी में नेतृत्व परिवर्तन के साथ बड़ी राजनीति उथल-पुथल होने वाली है। हालांकि ऐसा कुछ नहीं हुआ और योगी की कुर्सी बरकरार रही। इसके साथ ही संगठन मंत्री बीएल संतोष लखनऊ से जाते-जाते कोरोना से निपटने को लेकर उनकी (योगी आदित्यनाथ) पीठ भी थपथपा गए। हालांकि सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा सीएम को पब्लिकली विश नहीं करने को इन अटकलों से जोड़ कर देखा जा रहा है। हालांकि भाजपा की तरफ से इन अटकलों को खारिज किया गया है।

कहा जा रहा है कि देश में कोरोना की दूसरी लहर के बाद जनता बेहद परेशान हैं। पीएम की संवेदना देश की जनता के साथ है और शायद इसलिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ट्वीटर पर जन्मदिन की बधाई देने से बच रहे हैं।

खबरें और भी हैं...