बाढ़ प्रभावित 5 जिलों के दौरे पर CM योगी:बहराइच पहुंचकर बांटा राशन किट, बोले- बाढ़ पीड़ितों की सरकार ने हर बार मदद की है, बाढ़ की स्थिति नियंत्रण में है

लखनऊएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम योगी बहराइच के बाद अब गोंडा के लिए निकले हैं। - Dainik Bhaskar
सीएम योगी बहराइच के बाद अब गोंडा के लिए निकले हैं।

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी शुक्रवार को दो दिवसीय दौरे पर 5 जिलों के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण के लिए निकले हैं। बहराइच, गोंडा, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर और महाराजगंज जिलों में बाढ़ का हाल लेने के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ राहत सामग्री केंद्रों का निरीक्षण भी करेंगे। इसके अलावा बाढ़ प्रभावित परिवारों को राशन वितरण भी करेंगे।

सीएम योगी सबसे पहले बहराइच जिले में पहुंचे, जहां बाढ़ व कटान पीड़ितों के जख्मों पर मरहम लगाया है। उन्होंने बहराइच में 250 लाभार्थियों को राशन किट दिया, दो लाभार्थियों को आवास की चाबी और छह कटान पीड़ितों को सहायता राशि का चेक सौंपा है।

सुबह से ही सीएम के कार्यक्रम में आसपास के गांवों के ग्रामीणों का जुटना शुरू हो गया। दोपहर की चिलचिलाती धूप लोगों के हौसले के आगे फीकी दिखाई दी। यहां पहुंचे सीएम ने ग्रामीणों को बाढ़ व कटान से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

इस मौके पर सीएम ने कहा कि सरकार ने हर बार आपकी मदद की है। हम आगे भी आपकी मदद करते रहेंगे। प्रदेश में बाढ़ की स्थिति नियंत्रण में है। मैं खुद दौरा कर रहा हूं। राहत और बचाव के लिए NDRFऔर SDRFऔर PAC की फ्लड यूनिट को हर एक जनपद में तैनात किया गया है। बाढ़ के बाद संक्रमित बीमारियों से निपटने के लिए 5 सितंबर से लेकर 12 सितंबर तक हर जनपद में स्वच्छता, सैनेटाइजेशन, शुद्ध पेयजल आपूर्ति को लेकर एक व्यापक अभियान भी चलाया जाएगा।

नेता से लेकर अफसर तक अगवानी में लगे

सीएम योगी आदित्यनाथ का हेलिकॉप्टर दोपहर ढाई बजे बहराइच के महसी राजीचौराहा स्थित हेलीपैड स्थल पर पहुंचा। भाजपा विधायक सुरेश्वर सिंह के नेतृत्व में भाजपा नेताओं ने अगवानी की। यहां से वे कार से मंच स्थल पर पहुंचे। यहां पर सीएम ने लाभार्थियों को राशन किट वगैरह बांटी।

बहराइच में 250 लाभार्थियों को राशन किट दिया गया।
बहराइच में 250 लाभार्थियों को राशन किट दिया गया।

20 गांव में अब भी भरा है बाढ़ का पानी

बहराइच की महसी तहसील में बाढ़ का पानी घट गया है, लेकिन अभी भी 20 गांवों में बाढ़ का पानी भरा हुआ है। ग्राम पंचायत पचदेवरी के मजरा चमराही व मंगलपुरवा गांव में अधिक पानी भरा हुआ है। इसके अलावा घुरहरिपुर, तुरंतीपुरवा, मांझा दरिया खुर्द, भौंरी गांव में पानी भरा हुआ है।

4 साल में दूसरी बार सीएम योगी पहुंचे महसी

साढ़े चार वर्ष कार्यकाल में सीएम योगी आदित्यनाथ का महसी के बाढ़ व कटान पीड़ितों से मिलने का यह दूसरा मौका रहा है। इससे पहले वे वर्ष 2017 में में आए थे। तब भी सीएम ने बड़ी संख्या में बाढ़ व कटान पीड़ितों को राशन, सहायता राशि का चेक देकर लोगों की मदद की थी।

4 सितंबर को करेंगे महाराजगंज और सिद्धार्थनगर का दौरा

महाराजगंज, सिद्धार्थनगर जिले का निरीक्षण सीएम योगी 4 सितंबर शनिवार को हवाई सर्वेक्षण करेंगे। सीएम योगी बड़हलगंज, गोला, सहजनवां, कैंपियरगंज, पीपीगंज समेत सदर तहसील समेत जिले में बाढ़ का हेलिकॉप्टर से जायजा लेंगे। उसके बाद समीक्षा बैठक कर जिले के अधिकारियों के साथ बाढ़ राहत कार्यों पर जानकारी लेंगे। सीएम के दौरे के लेकर जिला प्रशासन, आपदा, राजस्व एवं सिंचाई विभाग के अधिकारियों की गतिविधियां तेज हो गई हैं।

दो दिवसीय दौरे पर सीएम योगी शनिवार की शाम गोरखनाथ मंदिर में ही बाढ़ राहत एवं बचाव कार्यों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।
दो दिवसीय दौरे पर सीएम योगी शनिवार की शाम गोरखनाथ मंदिर में ही बाढ़ राहत एवं बचाव कार्यों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

दो दिवसीय दौरे पर सीएम योगी शनिवार की शाम गोरखनाथ मंदिर में ही बाढ़ राहत एवं बचाव कार्यों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। सीएम के हवाई सर्वेक्षण के लिए लोक निर्माण विभाग से जिले के सभी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का एरियल रूट बना कर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। मंदिर में ही रात्रि विश्राम के बाद अगले ‌दिन रविवार को जनता दर्शन कार्यक्रम के बाद सीएम बीआरडी मेडिकल कॉलेज के निरीक्षण पर जा सकते हैं। हालांकि उनके आगमन को लेकर अभी प्रोटोकॉल जारी नहीं हुआ है लेकिन प्रशासनिक तैयारियां शुरू हो गई हैं।

प्रदेश की 5 नदियों का जलस्तर बढ़ा, 5156 नाव तैनात किया गया

राहत आयुक्त रणवीर प्रसाद ने बताया कि 'राप्ती, रोहिणी, क्वानो, घाघरा और शारदा नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। हमने किसी भी तरह की जान-माल की क्षति को रोकने के लिए युद्धस्तर पर काम कर रहे हैं। सरकार द्वारा अब तक 95,315 से अधिक सूखे राशन किट वितरित किए गए हैं, जबकि पिछले 24 घंटों में 5397 लोगों को सूखा राशन किट वितरित किया गया है। राज्य सरकार अब तक प्रभावित लोगों को 4,05,904 लंच पैकेट बांट चुकी है। पिछले 24 घंटे में ही 20,804 लंच पैकेट बांटे जा चुके हैं। पिछले 24 घंटों में लगभग 963 नावों को तैनात किया है और लगातार हो रही बारिश के बीच अब तक कुल 5165 नावों को तैनात किया गया है।

प्रभावित गांवों में बाढ़ के प्रभाव को कम करने के लिए राज्य सरकार ने एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और आपदा प्रबंधन की टीमों को सक्रिय मोड में चौबीसों घंटे काम करने का निर्देश दिया। बाढ़/अधिक बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्यों में देरी नहीं होनी चाहिए। राज्य के 42 जिलों में बाढ़ से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ), एसडीआरएफ और पीएसी सहित 66 से अधिक टीमों को तैनात किया गया है।

खबरें और भी हैं...