CM योगी की दंगाइयों को चेतावनी:पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कहा- कोई भी दंगा करेगा तो उसकी 7 पीढ़ियों को भरपाई करनी होगी

लखनऊ3 महीने पहले
लखनऊ में पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में CM योगी।
  • CM बोले- एक यूनिट बिजली हम 22 रुपए में खरीद रहे, त्योहार में अंधेरा नहीं होने देंगे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव से पहले माहौल खराब करने वाले को चेताया है। रविवार को लखनऊ में पार्टी के पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में सीएम ने कहा कि प्रदेश में अगर कोई भी दंगा करेगा तो उसकी 7 पीढ़ियों को इसकी भरपाई करनी होगी।

पंचायत भवन में हुए सम्मेलन में योगी ने कहा कि पिछली सरकार की फितरत ही दंगों में थी। पहले प्रदेश की पहचान ही दंगा थी। क्योंकि, सरकारें दंगाइयों को प्रश्रय देती थीं। दंगों से प्रदेश की जनता प्रताड़ित थी। झूठे मुकदमे दर्ज होते थे। जो मूर्ति बनाता था, उसकी मूर्ति नहीं बिकती थी। जो दीये बनाता था उसके दीये तोड़ दिए जाते थे। उसके पर्व-त्योहार पर अंधेरे कर दिया जाता था। लेकिन आपने देखा कि पिछले साढ़े 4 साल में प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने दंगाइयों को पहले दिन से ही संदेश दे दिया गया था कि अगर दंगा करोगे तो 7 पीढ़ियों का पट्टा लिखकर के जाना जो भरपाई करते रहेंगे। अब दंगा नहीं हो सकता प्रदेश में, प्रदेश में पर्व-त्योहार खुशी से मनाया जा रहा है।

एक यूनिट बिजली हम 22 रुपए में खरीद रहे, त्योहार में अंधेरा नहीं होने देंगे
सीएम ने कहा कि पहले बिजली सिर्फ 4 जिलों को मिलती थी। मगर आज 71 जिले रोशन हैं। कोयले का संकट है। बरसात के कारण कोयले की खादानों में पानी भर गया। अब एक यूनिट बिजली हमें 22 रुपए की पड़ रही है। तब भी हम खरीद रहे हैं। किसी भी कीमत पर पर्व और त्योहार में अंधेरा नहीं होने देंगे। जबकि सामान्य दिनों में हम 1 यूनिट बिजली 7 रुपए में खरीदते हैं।

भाजपा राष्ट्रवादी विचारधारा पर काम कर रही
सीएम ने कहा कि भाजपा राष्ट्रवादी विचारधारा पर काम करती है, जिसका मूल मंत्र है- 'सर्वे भवंतु सुखिनः सर्वे भवंतु निरामया'। जिसका अर्थ है कि सबके सुख की कामना। 2013 में PM मोदी ने भी इस देश को एक मंत्र दिया था, सबका साथ और सबका विकास। जिसका मतलब था कि जाति, मजहब, क्षेत्र के आधार पर देश का विघटन नहीं होने देंगे। सभी के कल्याण के लिए काम करेंगे। दबे-कुचले लोगों की आवाज को एक आवाज देंगे। उसे आगे बढ़ने का अवसर देंगे।

उन्होंने कहा कि 2014 से लगातार देश में पीएम मोदी के नेतृत्व में काम हुए, वो आप सब देख रहे हैं। मगर उससे पहले जिन लोगों ने शासन किया, उनका नारा होता था- 'सबका साथ, परिवार का विकास'। यानी की वह अपने स्वयं के विकास के लिए सबका साथ लेना चाहते थे।

खबरें और भी हैं...