आरएलडी व शिवपाल पर कांग्रेस ने डाले डोरे:अखिलेश आए सामने, बोले- चाचा के साथ लड़ेगे चुनाव, 21 नवंबर को जयंत के साथ सीटों के बंटवारे का ऐलान

लखनऊएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अखिलेश यादव का मालूम है अगर कांग्रेस ज्यादा सक्रिय होंगी तो उनका वोट छीटक सकता है, इसलिए वह समय रहते सभी छोटे दलों के साथ गठबंधन करने  का ऐलान कर दें  रहे है।  - Dainik Bhaskar
अखिलेश यादव का मालूम है अगर कांग्रेस ज्यादा सक्रिय होंगी तो उनका वोट छीटक सकता है, इसलिए वह समय रहते सभी छोटे दलों के साथ गठबंधन करने  का ऐलान कर दें  रहे है। 

उत्तर प्रदेश में छोटे दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात बार-बार कहने वाले सपा प्रमुख कांग्रेस के पैतरे से सतर्क नजर आ रहे है। बीते दिनों यूपी में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने जयंत चौधरी से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद अलग-अलग तरह के कयास की तो अखिलेश यादव सतर्क होते नजर आए। वहीं, लम्बे समय से चाचा शिवपाल अखिलेश यादव को साथ आने की बात कह रहे थे। तो अखिलेश ने दीपावली के दिन 2022 का चुनाव लड़ने की बात कहकर कांग्रेस के इस खेल को बिगाड़ दिया। राजनीतिक जानकार कहते है अखिलेश यादव किसी भी तरीके से वोटर्स को कंफ्यूज नहीं करना है। इसलिए उन्होंने समय रहते कांग्रेस के द्वारा आरएलडी और शिवपाल से गठबंधन करने का प्रयास किया गया उसका खंडन करवा दिया।

आरएलडी के साथ सहमति बनी, 21 नवम्बर को हो सकता है ऐलान
राजनीतिक गलियारे में यह चर्चा तेज हो गई है कि, राष्ट्रीय लोकदल के साथ सपा की सीटों को लेकर सहमति बन गई है। इसका ऐलान 21 नवम्बर को लखनऊ में दोनों पार्टी के प्रमुख नेता एक साथ आकर कर सकते है। मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय लोकदल को पश्चिमी क्षेत्र की 32 के करीब सीट सपा दे सकती है। यह वह सीट है जिस पर आरएलडी का बड़ा असर है।

मुलायम के जन्मदिन पर चाचा के साथ होने का ऐलान
सपा अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीते बुधवार को सैफई में पत्रकारों से कहा कि चाचा शिवपाल सिंह यादव से गठबंधन करके विधानसभा चुनाव साथ लड़ेंगे। 22 नवंबर को मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर कार्यकर्ताओं के सामने घोषणा की जाएगी। सूबे में भाजपा को हटाने के लिए गठबंधन के सवाल पर अखिलेश बोले कि सपा लगातार क्षेत्रीय दलों से गठबंधन के प्रयास कर रही है। कई दल सपा के साथ आए हैं। ओमप्रकाश राजभर ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है। चाचा शिवपाल सिंह यादव के दल को भी अपने साथ लेने का काम करेंगे।

डर वोट न बट जाएं
वरिष्ठ पत्रकार प्रभा शंकर बताते है कि, अखिलेश यादव लगातार यूपी के अलग-अलग क्षेत्रों में खुद दौरा कर रहे है। अखिलेश यादव आज रविवार को बसपा के दो वरिष्ठ नेता लाल जी वर्मा, राम अचल राजभर को सपा में शामिल होने का ऐलान अम्बेडकर नगर में करेंगे। अखिलेश यादव का मालूम है अगर कांग्रेस ज्यादा सक्रिय होंगी तो उनका वोट छीटक सकता है। इसलिए वह समय रहते सभी छोटे दलों के साथ गठबंधन करने का ऐलान कर दें रहे है।

खबरें और भी हैं...