कोरोनावायरस:सीतापुर में लापरवाही के चलते क्वारेंटाइन सेंटर से फरार हुए 14 लोग, प्रशासन ने कहा- दोबारा घर से लाकर कैंप में रखा जाएगा

सीतापुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, उप्र में संक्रमण को रोकने के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं
  • सीएमओ का कहना है कि सेंटर में रुके लोगों में किसी भी प्रकार का कोई लक्षण नहीं मिला था, उन्हें जल्द ही दोबारा सेंटर में रखा जाएगा

सीतापुर.  जिले में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते क्वारेंटाइन सेंटर से पलायन करके आए 14 लोगों के फरार होने का मामला सामने आया है। सेंटर में रुके लोगों ने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही का गंभीर आरोप लगाया है। इस बीच बाहर से आए लोगों के फरार होने की खबर के बाद स्वास्थ्य महकमे में अफरा तफरी मची हुई है। स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों का कहना है कि वह सभी अपने अपने घरों में चले गए हैं जल्द ही उन्ह वापस बुलाकर क्वारन्टीन सेंटर में रखा जाएगा और उनकी जांच हो चुकी हैं अभी तक किसी प्रकार के लक्षण नहीं प्राप्त हुए हैं। 
दरसअल जिले के संदना थाना क्षेत्र के गोंदलामऊ इलाके का है। यहां के प्राथमिक विद्यालय बनगढ़ में क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है। दिल्ली समेत अन्य जगहों से तकरीबन 14 लोग पैदल ही यहां पहुंचे थे। प्रधान की सूचना के बाद गांव पहुंची टीम ने सभी की स्कैनिंग कर उन्हें गांव के बाहर बने क्वारन्टीन सेंटर में 14 दिन तक रहने की सलाह दी थी। 
नागरिकों का आरोप है कि क्वारेंटाइन सेंटर में खाने पीने और सोने के लिए कोई इंतजाम नही हैं। साफ सफाई के लिए एक साबुन दिया गया था। बीती रात लोगों ने सेंटर में रात गुजारी लेकिन सुबह होते ही सब वहां से फरार हो गए। सेंटर से नागरिकों के फरार होने के बाद स्वास्थ्य विभाग में अफरा तफरी का माहोल बना हुआ है।
सीएमओ का कहना है कि सेंटर में रुके लोगों में किसी भी प्रकार का कोई लक्षण नहीं मिला था लेकिन उन्हें 14 दिन तक क्वारन्टीन सेंटर में रहने की सलाह दी गयी थी लेकिन जल्द ही उन्हें वापस सेंटर में बुला लिया जाएगा।