• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Hindu Samaj Party Leader Kamlesh Tiwari Murder Case Update: Kamlesh Tiwari Murder Case Witness Said 12 People Attacked Him On Road; Inspector Says There Was A Dispute Only About Overtake

हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड के गवाह पर जानलेवा हमला:लखनऊ में 3 साल पुराना केस फिर से गर्माया, गवाह बोला- बीच सड़क 12 लोगों ने किया हमला

लखनऊ5 महीने पहले

लखनऊ के चर्चित हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड के मुख्य गवाह सौराष्ट्र जीत सिंह ने खुद पर जानलेवा हमले का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि गुरुवार देर रात उनकी गाड़ी पर हमला किया गया और उनके सरकारी गनर की पिस्टल भी छीनने का प्रयास किया गया। वहीं, गाजीपुर थाने की पुलिस का कहना है कि गाड़ी ओवरटेक करने को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हुआ था।

मूल रूप से कुशीनगर निवासी सौराष्ट्र राजधानी के इंदिरानगर इलाके में रहते हैं। 18 अक्टूबर 2019 को हुए कमलेश तिवारी हत्याकांड में पुलिस ने सौराष्ट्र को मुख्य गवाह बनाया है। उनका कहना है कि गुरुवार रात वह स्कॉर्पियो से रहीमनगर की तरफ से गुजर रहे थे। बंधे वाली रोड पर दो गाड़ियों से उनका पीछा किया गया। उनकी गाड़ी को ओवरटेक करके रोका गया। दो कार से करीब 12 लोग उतरे और हमला कर दिया। किसी तरह सौराष्ट्र ने भागकर जान बचाई। हमलावरों ने उनके सरकारी गनर की पिस्टल भी छिनने का प्रयास किया, मगर शोर सुनकर जुटी भीड़ को देखकर हमलावर भाग निकले।

पुलिस पर लापरवाही का आरोप
घटना की रिपोर्ट दर्ज करवाने वह गाजीपुर थाने पहुंचे तो पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। वहीं, इंस्पेक्टर गाजीपुर अनिल कुमार का कहना है कि गाड़ी ओवरटेक करने को लेकर विवाद हुआ था। सौराष्ट्र मामले को गलत तूल पकड़ा रहे हैं।

18 अक्टूबर 2019 को हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी। - फाइल फोटो।
18 अक्टूबर 2019 को हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी। - फाइल फोटो।

आतंकी संगठन ने घर में घुसकर रेता था कमलेश का गला
18 अक्टूबर 2019 को लखनऊ के नाका इलाके में हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी। खुर्शीदबाग निवासी हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी ने घर में ही पार्टी कार्यालय बना रखा था।

18 अक्टूबर की दोपहर भगवा कुर्ता पहन कर मिलने आए दो युवकों ने बेरहमी से उनका गला रेतकर चाकू से पूरा शरीर गोद डाला था। मौके से मिले सूरत के मिठाई की दुकान के डिब्बे और कॉल डीटेल के आधार पर यूपी पुलिस ने गुजरात ATS से संपर्क किया था। इसके बाद गुजरात एटीएस ने सूरत से हत्या की साजिश में शामिल कथित मास्टरमाइंड रशीद पठान समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया था।

13 आरोपियों के खिलाफ दाखिल हुई थी चार्जशीट
कमलेश हत्याकांड में 13 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई थी। इनमें शूटर अशफाक, मोइनुद्दीन, साजिशकर्ता शेख सलीम, राशिद पठान, फैजान, आसिम अली, मोहम्मद जाफर सादिक और मददगार नावेद, मौलाना मुफ्ती कैफी, कामरान, रईस, आसिफ और यूसुफ खान हैं। पुलिस ने सभी के एक आतंकी संगठन से जुड़े होने की पुष्टि की थी।

खबरें और भी हैं...