लखनऊ में जिला अदालत दो दिन के लिए बंद:न्यायिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों में कोरोना के लक्षण मिलने के बाद लिया गया फैसला

लखनऊ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

न्यायिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों में कोरोना के लक्षण मिलने के बाद 19 और एवं 20 जनवरी को अदालतों को बंद करने का आदेश दिया है। यह आदेश जनपद न्यायाधीश राम मनोहर नारायण मिश्रा ने दिया है। इस दौरान न्यायालय परिसर को सेनेटाइज कराया जाएगा।

जनपद न्यायाधीश की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि सीएमओ की रिपोर्ट के अनुसार 4 न्यायिक अधिकारियों और 2 न्यायालय कर्मियों को कोरोना का होना पाया गया है। सीएमओ की ओर से कहा गया है कि न्यायालय को दो दिन के लिए बंद कर दिया जाए। ताकि संपूर्ण न्यायालय परिसर एवं अदालतों को सेनेटाइज किया जा सके।

जनपद न्यायाधीश ने एक पृथक आदेश जारी कर कहा है कि 19 और 20 जनवरी को अदालतें बंद रहेंगी। लिहाजा सत्र अदालतों में लंबित 19 जनवरी के जमानत प्रार्थना पत्र 25 जनवरी को तथा 20 जनवरी को नियत जमानत प्रार्थना पत्र 27 जनवरी को सुने जाएंगे। जबकि मजिस्ट्रेट न्यायालय में 19 जनवरी को नियत जमानत प्रार्थना पत्र 21 जनवरी को और 20 जनवरी को नियत जमानत पत्र 24 जनवरी को सुने जाएंगे। इसी प्रकार 19 जनवरी को नियत फौजदारी वाद 1 फरवरी को और 2 फरवरी को सुने जाएंगे। आदेश में यह भी कहा गया है कि 19 जनवरी को नियत दीवानी के मामले 18 फरवरी को और 20 जनवरी को नियत मामले 21 फरवरी को सुने जाएंगे।

खबरें और भी हैं...