अयोध्या की दीपावली:श्रीराम मंदिर का निर्माण होते देख सकेंगे अयोध्या आने वाले श्रद्धालु-पर्यटक, 300 करोड़ से दर्शन मार्गों का चौड़ीकरण का अभियान तेज

अयोध्या5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीराम मंदिर के नींव का निर्माण पूरा होने के दौरान राममंदिर चबूतरे का निर्माण आरंभ हो जाएगा। - Dainik Bhaskar
श्रीराम मंदिर के नींव का निर्माण पूरा होने के दौरान राममंदिर चबूतरे का निर्माण आरंभ हो जाएगा।

इस बार अयोध्या की दीपावली बेहद खास होगी। सरयू तट पर लाखों दीप अयोध्या की धार्मिक-सांस्कृतिक चेतना का गवाह बनकर एक बार फिर विश्व रिकार्ड कायम करेंगें। साथ ही श्रीराम मंदिर के नींव का निर्माण पूरा होने के दौरान राममंदिर चबूतरे का निर्माण आरंभ हो जाएगा। अयोध्या आने वाले श्रद्धालु व पर्यटक मंदिर निर्माण को अपनी आंखों से देख सकेंगे। इतना ही नहीं कोशिश यह भी है कि कोरोना खत्म होने के बाद श्रद्धालुओं की भीड़ जुटने से पूर्व रामलला के दर्शन मार्गों का निर्माण व चौड़ीकरण का भी काम पूरा कर लिया जाए। इसके लिए कागजी कार्यवाही व 300 करोड़ के बजट की स्वीकृति हो चुकी है।

झरोखे से दिखेगा राम मंदिर का निर्माण
श्रद्धालु भगवान राम मंदिर का निर्माण होते देख सकें, इसके लिए श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट एक झरोखा भी बनवाने जा रहा है। जिसके लिए ट्रस्ट ने आपस में सहमति भी बना ली है। बताते चलें कि अयोध्या में पिछले साल दीपावली पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में छह लाख से ज्यादा दीपक जलाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया गया था। इस भव्य महोत्सव को न केवल अयोध्या ने देखा बल्कि पूरे विश्व में भी इसकी तारीफ हुई। प्रदेश सरकार की कोशिश है कि इस बार यह पर्व और भी भव्य हो। ऐसा इसलिए कि इस बार भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर की नींव दीपावली यानी 4 नवंबर से पहले तैयार हो जाएगी।

रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण देख धन्य हो गया
अभी श्रीरामलला के भव्य मंदिर निर्माण की प्रगति को अयोध्या के प्रमुख धर्माचार्य प्रतिदिन वहां जाकर देख रहे हैं। श्रीरामवल्लभा कुंज के प्रमुख स्वामी राजकुमार दास कहते हैं कि रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण देख धन्य हो गया। धर्माचार्यो को दोपहर व शाम की आरती का भी आंनद मिल रहा है। ट्रस्ट उन्हें लॉकडाउन के दरमियान मंदिर निर्माण की प्रगति की जानकारी दे रहा है।

खबरें और भी हैं...