लखीमपुर हिंसा में दर्ज केस की जांच करेगी स्पेशल टीम:डीजीपी ने डीआईजी की अध्यक्षता में नौ पुलिस अफसरों की टीम गठित की, केंद्रीय मंत्री का आरोपी बेटा अभी तक फरार

लखनऊ19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुर खीरी हिंसा में दर्ज हुए केस की विवेचना के लिए डीजीपी मुकुल गोयल ने शुक्रवार को एक स्पेशल टीम गठित की है। इस टीम को डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल लीड करेंगे। टीम में नौ पुलिस अफसर शामिल हैं जो अबतक हो चुकी जांच की समीक्षा रिपोर्ट भी डीजीपी को देंगे। मामले के मुख्य आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा उर्फ टेनी का बेटा आशीष मिश्रा को पुलिस अभी तक फरार बता रही है।

3 अक्टूबर को हुई हिंसा में 4 किसानों की मौत से प्रदेश की राजनीति भी गरमा गई है। विपक्षी दल मंत्री अजय कुमार मिश्रा के इस्तीफे और उनके आरोपी बेटे आशीष की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबाव बना रहे हैं। मंत्री की तरफ से कई तरह के वीडियो को बतौर साक्ष्य पुलिस, प्रशासन के सामने पेश किया गया जिसके आधार पर वह अपने बेटे को निर्दोष बता रहे हैं।

घटना के दौरान गोलीबारी के भी मिले सुबूत

इस बीच पुलिस ने शुक्रवार शाम चिन्हित आरोपियों में से दो को गिरफ्तार भी कर लिया। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि एक गाड़ी से 315 बोर के दो कारतूस भी बरामद हुए हैं। दोनों कारतूस दागने के प्रयास किये गए लेकिन मिस हो गए हैं। इससे साफ जाहिर है कि घटना के दौरान गोलीबारी भी हुई है। हालांकि पुलिस ने यह स्पष्ट नही किया कि यह कारतूस किसकी गाड़ी से बरामद हुए हैं।

मंत्री पुत्र पर कस रहा शिकंजा या बचाने की कवायद?

आईजी लखनऊ रेंज लक्ष्मी सिंह घटना वाले दिन से ही लखीमपुर खीरी में डेरा जमाए हुए हैं। उनके नेतृत्व में खीरी पुलिस ने शुक्रवार को दो आरोपियों को गिरफ्तार भी किया। लेकिन मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी को लेकर उनका बयान की वह अभी तक फरार है। शुक्रवार रात ही पुलिस ने मंत्री के बेटे को घटना से जुड़े साक्ष्य के साथ क्राइम ब्रांच में पेश होने के लिए उनके घर पर नोटिस भी चस्पा किया। इसी बीच अचानक विशेष टीम के गठन से सवाल खड़ा हो रहा कि आईजी लक्ष्मी सिंह की कार्रवाइयों से असंतुष्ट डीजीपी ने मंत्री पुत्र पर शिकंजा कसने के लिए टीम बनाई है या उसे किसी तरह क्लीनचिट देने की तरफ कदम बढ़ाए जा रहे हैं।

हिंसा के केस की विवेचना करेगी यह टीम

-उपेन्द्र अग्रवाल, पुलिस उपमहानिरीक्षक, पुलिस मुख्यालय, अध्यक्ष

-सुनील कुमार सिंह, सेनानायक, 10वीं वाहिनी पीएसी, बाराबंकी, वरिष्ठ सदस्य

-अरूण कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक, खीरी

-संदीप सिंह, क्षेत्राधिकारी, मितौली खीरी

-संजय नाथ तिवारी, क्षेत्राधिकारी, गोला, खीरी

-विद्याराम दिवाकर, निरीक्षक, अपराध शाखा खीरी

-सियाराम वर्मा, प्रभारी निरीक्षक, थाना खीरी

-धर्म प्रकाश शुक्ल प्रभारी जन शिकायत प्रकोष्ठ, खीरी

-शिव कुमार, उप निरीक्षक, प्रभारी स्वाट टीम, खीरी

खबरें और भी हैं...