UP में चुनाव प्रचार पर 31 जनवरी तक रहेगी रोक:बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते चुनाव आयोग ने लिया फैसला, प्रदेश में 95 हजार एक्टिव केस

लखनऊ5 महीने पहले
स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयोग को बताया था कि पांचों चुनावी राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर के बीच रैलियों-रोड शो पर फिलहाल 31 जनवरी तक दिन पाबंदी जारी रहेगी। शनिवार को दिल्ली में चुनाव आयोग की अहम बैठक हुई। मुख्य चुनाव आयुक्त और उनकी टीम रैलियों, रोड शो और बड़ी जनसभाओं पर प्रतिबंध को एक हफ्ते और बढ़ाने पर सहमत हुई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयोग को बताया था कि पांचों चुनावी राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

हफ्ते भर में कोरोना के मामलों में और कमी आ सकती है। जो कोरोना केस के ट्रेंड हैं, उसके आधार पर एक सप्ताह बाद चुनाव आयोग रैलियों और रोड-शो से पूरी तरह प्रतिबंध हटा सकता है। हालांकि, 8 जनवरी को जब चुनाव आयोग ने रैलियों पर प्रतिबंध लगाया था, उस दिन प्रदेश में एक्टिव केस 392 थे। अब 95 हजार से ज्यादा हैं।

आयोग ने पहली बार 8 जनवरी को चुनाव की घोषणा करते हुए 15 जनवरी तक के लिए प्रतिबंध लगाया था। 15 जनवरी को हुई रिव्यू मीटिंग में प्रतिबंध 23 जनवरी तक बढ़ा दिया गया। हालांकि, राजनीतिक दलों को अधिकतम 300 लोगों की अनुमति दी गई। इस बीच अचानक कोरोना का रिकवरी रेट बढ़ गया। जिन जिलों में चुनाव होने हैं, वहां तो एक्टिव केस 30 फीसदी तक कम हो गए हैं।

5 दिन से लगातार घट रहे हैं कोरोना के एक्टिव केस

यूपी के अन्य जिलों में भी रिकवरी रेट तेजी से बढ़ रहा है। यहां बीते 5 दिनों से कोरोना के एक्टिव केस भी कम होते जा रहे हैं। 17 जनवरी को 1.06 लाख एक्टिव केस थे। 21 जनवरी तक एक्टिव केस की संख्या 95,866 रह गई है। हालांकि, रोजाना औसतन 20 हजार नए केस भी सामने आ रहे हैं।

यूपी में एक्टिव केस भी 5 दिन से लगातार कम हो रहे हैं।
यूपी में एक्टिव केस भी 5 दिन से लगातार कम हो रहे हैं।

यहां पढ़ें : यूपी की आज की बड़ी खबरें LIVE

खबरें और भी हैं...