पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

UP के सीतापुर में हादसा:शादी समारोह के दौरान टेंट में दौड़ा बिजली का करेंट; दर्दनाक हादसे में 4 बारातियों की मौत, 3 लोग झुलसे

सीतापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीतापुर में एक शादी समारोह के दौरान हुए हादसे में चार लोगों की मौत हो गई। - Dainik Bhaskar
सीतापुर में एक शादी समारोह के दौरान हुए हादसे में चार लोगों की मौत हो गई।

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में मांगलिक कार्यक्रम के दौरान पंडाल के हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से एक दर्दनाक हादसा हो गया। उस हादसे के दौरान 4 बारातियों की मौत हो गई जबकि तीन लोग गंभीर रूप से झुलस गए। हादसे में गंभीर घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसा उस वक़्त हुआ जब बारातियों को बारात आने के बाद नाश्ते के प्रबंध किया जा रहा था। तेज हवा के चलते पंडाल उड़ा और ऊपर से गुजरी हाईटेशन लाइन की चपेट में आ गया।

शादी के दौरान दर्दनाक हादसा

घटना कमलापुर थाना इलाके के ग्राम हनुमानपुर इलाके की है। यहां की रहने वाली निधि पाल का विवाह बिसवां निवासी विकास के साथ होना था। बीती रात बारात लड़की पक्ष के घर पहुंची और द्वारचार का कार्यक्रम चल रहा था।

बारातियों के मुताबिक,द्वारचार के बाद सभी बाराती पंडाल के नीचे नाश्ता कर रहे थे इसी दौरान तेज हवाओं का झोंका आया और पंडाल गिरने लगा तो सभी बारातियों ने पंडाल को पकड़कर रोकने का प्रयास किया लेकिन पंडाल का लोहे का पाइप ऊपर से गुजरी हाईटेशन लाइन की चपेट में आ गया। पाइप की करंट दौड़ते ही पंडाल को पकड़े गए बाराती एयर जनाती समेत 7 लोग गंभीर रूप से झुलस गए और अन्य को मामूली चोटें आयी।

पंडाल को पकड़ने में हुआ हादसा

करंट लगते ही बारात में भगदड़ मच गयी और स्थानीय लोगों की मदद से सभी घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के उपचार के दौरान 4 बारातियों ने दम तोड़ दिया जबकि तीन लोगों का उपचार अभी जारी हैं। शादी के घर में अचानक हुए इस हादसे से गांव में कोहराम मच गया और अस्पताल में लोगों का तांता लग गया।

घटना की जानकारी पाकर मौके पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों का जमावड़ा लग गया और घायलों को समुचित इलाज की व्यवस्था में जुट गए। पुलिस का कहना है कि शवो को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम की कार्यवाई करवाई जा रही है जबकि शेष घायलों का उपचार जारी हैं। हादसे के बाद शादी समारोह की सभी रस्मे वहीं पर रोक दी गयी हैं।