बिजली इंजीनियरों ने रखा उपवास:वेतन विसंगतियों समेत कई मांगों को लेकर 24 घंटे का रखा उपवास, लखनऊ समेत 75 जिलों में हुआ आंदोलन

लखनऊएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वेतन विसंगतियों समेत कई मांगों को लेकर इंजीनियरों ने रखा उपवास - Dainik Bhaskar
वेतन विसंगतियों समेत कई मांगों को लेकर इंजीनियरों ने रखा उपवास

वेतन विसंगतियों समेत कई मांगों को लेकर उप्र राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन ने पूरे प्रदेश में 24 घंटे का उपवास कर सत्याग्रह किया। जूनियर इंजीनियरों का दावा है कि प्रदेश के 75 जिलों के अलावा 10 बिजली उत्पादन गृहों में यह आंदोलन चला है। लखनऊ में मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड कार्यालय पर सैकड़ों इंजीनियर भूख हड़ताल पर बैठे रहे।

इस दौरान संगठन के अध्यक्ष जेबी पटेल ने बताया कि विभाग में आए दिन बदलाव हो रहे हैं। इसकी वजह से नियमित होने वाले काम प्रभावित होते है। उसके अलावा वरिष्ठता के हिसाब से प्रमोशन, एसीपी लाभ, अधिष्ठान संबंधी समस्याओं को लेकर भी ज्ञापन दिया गया। संगठन ने साफ कर दिया है कि ज्ञापन देने के बाद 13 सितंबर को जूनियन इंजीनियर 24 घंट का भूख हड़ताल करेंगे। आंदोलन का नेतृत्व करने वालों में प्रमुख रुप से राम इकबाल , अनिल वर्मा,प्रकाश कुमार सिंह, राकेश सिंह, रतनदीप मौर्य, अजय यादव, एसएन पटेल, विवेक तिवारी, चंद्रशेखर दीपक जायसवाल, संजीव वर्मा,डीके प्रजापति शामिल है।

ज्ञापन देने का अभियान चलाया गया था

इससे पहले विधायक , नेता और मंत्रियों को ज्ञापन देने का अभियान चलाया गया था। इसमें हर जिलें में ज्ञापन दिया गया था। उसके बाद यह कार्यक्रम तय किया गया है। ज्ञापन देने के अभियान में मिर्जापुर में विधायक रत्नाकर मिश्रा , मुरादाबाद में विधायक राजेश कुमार,मुरादाबाद में सांसद डॉक्टर एसटी हसन, गाजीपुर में विधायक त्रिवेणी राम , रायबरेली में विधायक अदिति सिंह, मुरादाबाद में विधायक हाजी इकराम कुरैशी और , डॉक्टर जयपाल सिंह, संत कबीर नगर में विधायक दिग्विजय नारायण चौबे, लखनऊ में विधायक जया देवी, अलीगढ़ में विधायक मानवेंद्र प्रताप सिंह शामिल थें।

खबरें और भी हैं...