पीलीभीत में मस्जिद में चलीं लाठियां:नमाज पढ़ाने को लेकर मुतवल्ली-इमाम के बीच चले लाठी-डंडे, पुलिस ने दर्ज की क्रॉस एफआईआर लिख तीन लोगों को जेल भेजा

पीलीभीतएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मस्जिद में दो पक्षों के बीच चली लाठियां, पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा। इलाके में पुलिस बल तैनात। - Dainik Bhaskar
मस्जिद में दो पक्षों के बीच चली लाठियां, पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा। इलाके में पुलिस बल तैनात।

नमाज पढ़ाने को लेकर मुतवल्ली और इमाम के बीच मारपीट हो गई। इस बीच दोनों के समर्थक आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों के लोगों ने मस्जिद में जमकर लाठी-डंडे चलाए। एक-दूसरे पर हमलावार दोनों पक्षों के लोग बुरी तरह घायल हो गए। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों के कई लोगों को हिरासत में लिया। इलाके में तनाव को देखते हुए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

नमाज पढ़ाने को लेकर लंबे समय से चल रहा है विवाद

मामला जिले के मोहल्ला मोहतशिम खां स्थित पांच पीरों वाली मस्जिद का है। मस्जिद में नमाज पढ़ाने को लेकर इमाम और मुतवल्ली के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है। कई बार दोनों लोग अपने समर्थकों के साथ एक-दूसरे पर हमलावर हो चुके हैं। बीती रात एक बार फिर से दोनों में चला जा रहा विवाद बढ़ गया।

लगा रहे एक-दूसरे पर आरोप

मस्जिद की इमामत को लेकर दोनों पक्ष के लोग एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। वहीं, मुत्वल्ली मोहल्ला मोहत्सिक खान निवासी नवाब अहमद पुत्र सखावत हुसैन खां का आरोप है कि इमाम साहब नियम के खिलाफ कार्य कर रहे हैं। इसलिए लोग उनके पीछे नमाज नहीं पढ़ना चाहते। वहीं, बरेली के क्योलड़िया के अटंगा निवासी इमाम शाहनवाज पुत्र जुबेर खानका कहना है कि मुतवल्ली जबरन उनको इमामत से हटाना चाहते हैं। वह 3 साल से इमामत का काम कर रहे हैं। मुतवल्ली उनको हटाकर अपने किसी बंदे को मस्जिद में नमाज पढ़ाने की जिम्मेदारी सौंपने के लिए झूठे आरोप लगा रहे हैं।

भागकर बचाई जान, दी जान से मारने की धमकी

पुलिस को तहरीर देकर इमाम ने बताया कि बीती रात जब वह मस्जिद में अपने चचेरे भाई शहजाद के साथ इबादत कर रहे थे। तो मुतवल्ली नवाब अहमद अपने बेटे शमशाद के साथ सरताज, इंतियाज, मुमताज, इफ्तेखार, शादाब को लेकर मस्जिद में धुसे। फिर गालियां देते हुए लाठी-डंडों से हमला कर दिया। उनके साथ दो महिलाएं भी थीं। इसके बाद उन्होंने अपने चचेरे भाई के साथ मस्जिद से भागकर जान बचाई। दूसरी ओर मुतावल्ली नवाब अहमद ने तहरीर दी कि, रात 10 बजे इमाम अपने समर्थकों के साथ मस्जिद में थे। जब वह मस्जिद में गए तो इमाम और उनके समर्थक शेर मोहम्मद, निशात अली, जुम्मन खा व काशिफ आदि लोगों ने लाठी डंडों से हमला कर दिया। उन्होंने जान से मारने की धमकी दी। किसी तरह दूसरे के घर में घुंसकर हम लोगों ने जान बचाई। इस हमले में उनके पक्ष के सरताज, शबीना, सोनी सहित कई लोगों को चोटें आईं।

एफआईआर दर्ज कर तीन लोगों को जेल भेजा

पुलिस ने दोनों पक्षों की ओर से क्रॉस एफआईआर दर्ज कर ली है। शहर कोतवाल अतर सिंह ने बताया है कि दोनों पक्षों पर एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं, अन्य आरोपियों की भी तलाश जारी है। इलाके में शांति व्यवस्था कायम बनाए रखने के लिए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...