माफियाओं में वर्चस्व की जंग:अयोध्या के पूर्व विधायक अभय सिंह पर लखनऊ में FIR; सुरेंद्र कालिया के नाम कबूलने पर 4 हिरासत में, पूछताछ जारी

अयोध्या6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोसाईगंज विधानसभा क्षेत्र के पूर्व सपा विधायक अभय सिंह के खिलाफ लखनऊ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। - Dainik Bhaskar
गोसाईगंज विधानसभा क्षेत्र के पूर्व सपा विधायक अभय सिंह के खिलाफ लखनऊ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है।

अयोध्या में गोसाईगंज विधानसभा क्षेत्र के पूर्व सपा विधायक अभय सिंह के खिलाफ लखनऊ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की। पुलिस ने आलमबाग कोतवाली में आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया है। अभय सिंह पर यह कार्रवाई जौनपुर के पूर्व सांसद व बाहुबली धनंजय सिंह के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने को लेकर दर्ज की गई है। हिस्ट्रीशीटर सुरेंद्र कालिया ने अपने इकबालिया बयान में अभय सिंह का नाम लेकर जिला पंचायत चुनाव अयोध्या की सियासी गणित में खलबली मचा दी है।

धनंजय सिंह को फंसाने के लिए रची थी साजिश

हरदोई के हिस्ट्रीशीटर सुरेंद्र कालिया ने 13 जुलाई 2020 को अपने ऊपर अत्याधुनिक असलहों से जानलेवा हमला करने की एफआईआर दर्ज कराई थी। जब उसे इस मामले में विवेचक ने जांच के लिए बुलाया तो वह फरार हो गया था। लखनऊ पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद उसने कबूल किया है कि पूर्व विधायक अभय सिंह के कहने पर ही पूर्व सांसद धनंजय सिंह को फंसाने के लिए उसने खुद पर हमला कराने की साजिश रची थी।

सुरेंद्र कालिया के इकबालिया बयान के बाद पुलिस ने पूर्व विधायक अभय सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। इस मामले में एडीसीपी ने चार अभियुक्तों को हिरासत में लिया है। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के निदेश पर पुलिस ने हिरासत में लिए अभियुक्तों से पूछताछ शुरू की। पुलिस के अनुसार जांच के दौरान सीसीटीवी कैद में फायरिंग की घटना के समय कुछ लोगों को चिन्हित किया गया था और उनसे पूछताछ के बाद उन्हें फायरिंग की घटना में शामिल पाया गया पूछताछ के दौरान ही इस राज से पर्दा उठ गया था।

सुरेंद्र कालिया के इकबालिया बयान के बाद पुलिस ने पूर्व विधायक अभय सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।
सुरेंद्र कालिया के इकबालिया बयान के बाद पुलिस ने पूर्व विधायक अभय सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

13 जुलाई को हुई थी घटना

पुलिस बताया कि पूछताछ के दौरान सुरेंद्र कालिया ने अभय सिंह का नाम बताया है। 13 जुलाई 2020 को सुरेंद्र कालिया के काफिले पर फायरिंग हुई थी, जिसकी सीसीटीवी फुटेज की जांच में भी यही तथ्य पाए गए। सीसीटीवी में फायरिंग के दौरान मौजूद चार लोगों को पुलिस ने पहले ही हिरासत में ले लिया है। उन्हीं से पूछताछ के बाद सुरेंद्र कालिया और अभय सिंह की साजिश का पर्दाफाश किया गया है। जांच में यह खुलासा हुआ था कि फायरिंग खुद सुरेंद्र कालिया ने ही करवाई थी।

साजिश रचने वालों को भी उजागर करने में यूपी पुलिस पीछे नहीं दिखाई दे रही

यूपी के माफियाओं के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन में पुलिस को लगातार एक के बाद एक सफलताएं मिल रहीं। एक ओर पुलिस एनकाउंटर के डर से कई माफियाओं ने यूपी छोड़ रखा है, तो अन्य में खलबली मची है। पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी को पंजाब जेल से उत्तर प्रदेश लाने के बाद उसके करीबी कहे जाने वाले पूर्व सपा विधायक अभय सिंह के खिलाफ भी पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है।