पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CM की समीक्षा बैठक में न जाना पड़ा महंगा:बैठक में न आने पर पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के MD पर गिरी गाज, मुख्यमंत्री योगी ने किया निलंबित

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के मुख्मयंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक में नदारद रहे पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के एमडी को सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को निलंबित कर दिया। बनारस समेत कई जिलों की समीक्षा बैठक और विकास कार्यों का जायजा लेने के दौरान यह कार्रवाई की गई। सीएम बनारस सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक कर रहे थे।

बताया जा रहा है कि पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक सरोज कुमार बैठक में नहीं आ पाए थे। इसके बाद सीएम का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। उन्होंने इस दौरान जल निगम के कामों में देरी और लापरवाही पर चीफ इंजीनियर को बैठक में खड़ा कर दिया। आखिर चेतावनी देकर उनको छोड़ा गया। इन दो घटनाओं के बाद पूरे बैठक में हड़कंप मचा रहा। पिछले चार साल के काम में यह सबसे बड़ी कार्रवाई है।

उन्होंने अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने का आदेश जारी किया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों की सूची तैयार की जाए। जिससे कि उनकी जिम्मेदारी तय की जाए। कहा कि आने वाले दिनों में कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पहले से तैयार परियोजनाओं का शिलान्यास करने का भी आदेश सीएम की तरफ से जारी किया गया।

जन प्रतिनिधियों के काम को तवज्जों दी जाए
उन्होंने इस दौरान जनप्रतिनिधियों के काम और उनकी बात को तवज्जों देने की बात कही। उन्होंने कहा कि ऐसा न करने वाले अधिकारी कार्रवाई के लिए तैयार रहेंगे। बताया कि सिस्टम में लापरवाह अधिकारी को किसी भी स्थिति में स्वीकार नहीं किया जाएगा। ऐसे लोग जनता के बीच में नहीं काम कर सकते है।

15 दिन पर काम की समीक्षा करने का आदेश
सीएम ने बैठक में हर 15 दिन पर जनता से जुड़े काम की समीक्षा करने का आदेश दिया। बताया जा रहा है कि बनारस में कई योजनाएं फरवरी 2022 में पूरी होने वाली है। ऐसे में उनकी मॉनिटरिंग को तेज करने का आदेश दिया। सूत्रों का कहना है कि एमडी सरोज कुमार के खिलाफ पहले लापरवाही का आरोप लगता रहा है। शासन स्तर पर इसकी शिकायत गई थी। बताया जा रहा कि है कि ऐसे में इनके खिलाफ पहले से नाराजगी चल रही थी।

खबरें और भी हैं...