• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Funds Were Being Transacted For Conversion From American Company PayPal, Revealed In ED's Investigation, Interrogation Of The Accused Brought On Remand Continues

अमेरिकन ट्रांजेक्शन सर्विस से आ रहा था विदेशी फंड:अमेरिकी कम्पनी पेपाल से हो रहा था धर्मान्तरण के लिए फंड का ट्रांजेक्शन, ED की जांच में हुआ खुलासा

लखनऊ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रिमांड पर लिए गए आरोपियों से पूछताछ के दौरान हो रहे हैं कई खुलासे

उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर धर्म परिवर्तन का जाल बिछा चुकी इस्लामिक दावा सेंटर और इसके जैसी संस्थाएं विदेशों से फंड मंगाने के लिए अमेरिकन ऑनलाइन ट्रांजैक्शन सर्विस पेपाल का इस्तेमाल कर रही थीं। मामले में प्रिवेंशन ऑफ मनी लौंडरिंग एक्ट के तहत केस दर्ज कर जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ED) की पड़ताल में यह जानकारी सामने आई है। रिमांड पर लाये गए बड़ोदरा के सलाउद्दीन ने भी पूछताछ में इसकी पुष्टि की है।

धर्मान्तरण कराने वाली संस्था इस्लामिक दावा सेंटर के संचालक मौलाना उमर गौतम को विदेशी फंड मुहैया कराने वाले बड़ोदरा के सलाउद्दीन को मंगलवार को 7 दिन की रिमांड पर ATS मुख्यालय लाया गया है। पूछताछ में उसने बताया कि इस्लाम के विस्तार के क्षेत्र में काम करने वाले दुनिया के कई संगठन उसके संपर्क में हैं। यह संगठन भारत मे धर्म परिवर्तन के लिए फंडिंग करते हैं।

इन्हीं संगठनों से वह उमर की संस्था IDC को फंड दिलवाता था। खुद उसकी संस्था FAMI को भी इन संगठनों से हर साल मोटा फंड मिलता है। फंड की रकम बहुत ज्यादा होती है इसलिए इसे हवाला के जरिये मंगवाते हैं। ज्यादातर फंड फॉरेन मानी एक्सजेंच और ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की सुविधा देने वाली अमेरिकन कम्पनी पेपाल के जरिये आता था।

टेलीकॉम उपकरण बेचने के मामले में पहली बार हुआ था पेपाल का खुलासा

उत्तर प्रदेश में पेपाल के इस्तेमाल का खुलासा इटावा पुलिस ने जनवरी में किया था। इटावा पुलिस ने रिलायंस जियो के टावर से लूट करके इलेक्ट्रॉनिक उपकरण अमेरिका में बेचने वाले गिरोह को पकड़ा था। पकड़े गए बदमाशों ने बताया था कि अमेरिका के बाजार में उपकरण बेचने और लेनदेन के लिए वह पेपाल का इस्तेमाल करते हैं। इस वेबसाइट को ऑपरेट करने के लिए किसी ऐसे ब्रॉउजर का इस्तेमाल करते हैं जिसे आसानी से ट्रेस नहीं किया जा सकता।

खबरें और भी हैं...