पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शाहजहांपुर में छेड़खानी के विरोध पर दबंगई:छात्रा से अश्लील हरकत की तो दिखाई चप्पल, युवकों ने घर में घुस कर किया रेप का प्रयास-रॉड से की पिटाई

शाहजहांपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़िता के भाई ने बताया कि घायल होने के बाद जब बहन को राजकीय मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो डाक्टर ने देखा और उसके बाद अच्छे इलाज के लिए बाहर ले जाने की सलाह दी। इसलिए वह घायल बहन को घर लेकर आ गये हैं। - Dainik Bhaskar
पीड़िता के भाई ने बताया कि घायल होने के बाद जब बहन को राजकीय मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो डाक्टर ने देखा और उसके बाद अच्छे इलाज के लिए बाहर ले जाने की सलाह दी। इसलिए वह घायल बहन को घर लेकर आ गये हैं।

छात्रा से अश्लील हरकत करने पर जब उसने युवकों को चप्पल दिखाई तो घर के अंदर घुसकर दो युवकों ने इंटर की छात्रा से रेप का प्रयास किया। विरोध करने पर युवकों ने छात्रा पर लोहे की रॉड से हमला कर घायल कर दिया। परिजनों ने थाने में तहरीर दी। पुलिस ने जांच के नाम पर टरका दिया। परिजनों ने एसपी से गुहार लगाई है।

घर में घुसकर लड़की के कपड़े भी फाड़ दिए

चौक कोतवाली क्षेत्र में गुरूवार की शाम घर जा रही छात्रा के साथ पहले दो युवकों ने अश्लील छेड़छाड़ की। गुस्साई छात्रा ने युवकों को चप्पल दिखाकर घर चली गई। गुस्साये दोनों युवक कुछ देर बाद उसके घर के अंदर घुसकर दुष्कर्म का प्रयास करने लगे। कपड़े फाड़ दिये। हंगामा होने पर युवकों ने लोहे के रॉड से छात्रा पर हमला कर लिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना को अंजाम देने के आरोपी मौके से फरार हो गये। छात्रा का भाई किसी काम से घर से बाहर गया था और उसकी मां अस्पताल गई थी। छात्रा की बहनों ने भाई और मां को सूचना दी। जिसके बाद परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया।

पुलिस ने थाने से टरकाया

वहीं पीड़िता का भाई थाने पहुंचा और आरोपियों की कार्रवाई की मांग को लेकर तहरीर दी लेकिन पुलिस ने महज जांच करने की बात कहकर लौटा दिया। आरोपियों पर कार्रवाई न होते देख परिजनों ने जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई। उसके बाद शुक्रवार को परिजन कार्रवाई को लेकर एसपी एस आनंद से भी मिले। लेकिन चौक कोतवाली पुलिस ने अभी आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। पीड़िता के भाई ने बताया कि घायल होने के बाद जब बहन को राजकीय मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो डाक्टर ने देखा और उसके बाद अच्छे इलाज के लिए बाहर ले जाने की सलाह दी। इसलिए वह घायल बहन को घर लेकर आ गये हैं। रुपये का इंतजाम करके अच्छे डाक्टरों को दिखाएंगे। लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है।