हर घर तिरंगा अभियान पर मुनव्वर राणा बोले:बच्चों की कॉपी और पेंसिल पर GST, तिरंगा झंडा बनाने वाली फैक्ट्री पर क्यों नहीं

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

PM मोदी की अपील पर पूरे देश भर में इस बार 15 अगस्त को 75वें स्वतंत्रता दिवस पर अमृत महोत्सव के तहत हर घर तिरंगा लगाया जा रहा है। देश के मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने कहा कि सवाल तो ये है कि बच्चों की कॉपी और पेंसिल पर जीएसटी टैक्स लिया जा रहा है। लेकिन तिरंगा झंडा बनाने वाली फैक्ट्री पर कोई जीएसटी नहीं।

शायर राणा ने कहा कि आज के समय में सड़कों पर 12 करोड़ की आबादी रह रही है। वह कहां पर झंडा लगाएगी। तिरंगा लगाने की एक शोहरत है, जिसे घर के सिरहाने पर ही लगाया जाता है।

पढ़िए शायर मुनव्वर राणा ने और क्या क्या कहा...

अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले देश के मशहूर शायर मुनव्वर राणा की तबीयत इन दिनों ज्यादा खराब है। लखनऊ के अपने घर पर ही मुनव्वर राणा रहते हैं, उनकी डायलिसिस हो रही है। दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए मुनव्वर राणा ने कहा देश में तिरंगा फहराया हर साल जाता है। स्वतंत्रता दिवस हो या फिर गणतंत्र दिवस, पूरा भारत आजादी के पर्व और संविधान दिवस पर खुशी मनाता है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री की अपील सब को स्वीकार है, लेकिन सड़कों पर सोने वाली 12 करोड़ की आबादी कहां तिरंगा लगाएगी। तिरंगा की शोहरत तो घर के सिरहाने पर ही अच्छी लगती है।

सिल्क के झंडे पर उठाया सवाल
मुनव्वर राणा यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा बच्चों की कॉपी और पेंसिल पर जीएसटी लिया जा रहा है। देश के उद्योगपतियों को कारोबार करने के लिए तिरंगा झंडा बनाने वाली फैक्ट्री पर कोई जीएसटी नहीं लगाई जा रही है। मुनव्वर ने कहा- आखिर सिल्क के झंडे को बनाने और लगाने से क्या होगा। झंडे तो आजादी के समय से जो खादी के बनाए जाते थे वही अच्छे होते और लगते हैं।