लखनऊ...छह लाख पर 1.73 करोड़ ब्जाय मांगने पर मुकदमा:जेवर गिरवी रख पीड़िता ने लिए थे उधार पैसे, हजरतगंज पुलिस कर रही पड़ताल

लखनऊ8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हजरतगंज थाना की प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
हजरतगंज थाना की प्रतीकात्मक फोटो।

लखनऊ में सूदखोरी का एक नया मामला सामने आया है। जिसमें सराफ भाइयों ने एक महिला को छह लाख रुपये उधार देकर सात साल में चक्र-वृद्धि ब्याज लगाकर पौने दो करोड़ से ज्यादा रकम बना दी। पीड़िता के विरोध करने पर उन्हें धमकी दी गई। हजरतगंज पुलिस पीड़िता की तहरीर पर सराफ भाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

सराफ की मौत के बाद बेटों ने किया खेल, पीड़ता लगा रही दुकान के चक्कर
बटलर पैलेस निवासी कुमकुम श्रीवास्तव का आरोप है कि वर्ष 2006 में पारिवारिक जरूरतों के लिए नरही स्थित लाला ओमकार नाथ सर्राफ के पास जेवर और चांदी के सिक्के गिरवी रख कर छह लाख रुपये उधार लिए थे। जिसके बदले एक प्रतिशत ब्याज की बात तय हुई थी। फरवरी 2007 में ओमकार नाथ का निधन हो गया था। उसके बाद उनके बेटों ने दुकान पर बैठना शुरू कर दिया। नवंबर 2014 में गिरवी जेवर छुड़वाने के लिए ओमकार नाथ केसरवानी ​​​​​​ के बेटे अमर और गुंजन से संपर्क किया। अमर और गुंजन ने 75 लाख रुपये ब्याज समेत चुकाने पर ही जेवर लौटाने की बात कही। इसके बाद पहले तय हुए ब्याज का हवाला देकर कई बार दुकान गई, लेकिन इन लोगों ने एक न सुनी और धमकी देकर भगा दिया।

कोर्ट की मदद लेने पर आरोपी पौने दो करोड़ रुपये की कर रहे मांग
इंस्पेक्टर हजरतगंज श्याम बाबू शुक्ल के मुताबिक पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। पीड़िता का आरोप है कि तय ब्याज चुकाने के बाद भी जेवर नहीं लौटाने पर उन्होंने सराफ भाइयों को नोटिस भेजा था। जिसका जवाब आरोपियों ने नहीं दिया। कुमकुम नरही स्थित अमर और गुंजन की दुकान पहुंची तो उनसे जेवर छुड़वाने के बदले एक करोड़ 75 लाख रुपये का ब्याज चुकाने के लिए कहा। कुमकुम का आरोप है कि अमर और गुंजन ने उनके जेवर बेच दिए हैं। मामले की जांच की जा रही है।