भुगतान न होने पर ठेकेदारों ने खोला मोर्चा:नगर निगम के सामने होर्डिंग लगा 20 अक्टूबर तक भुगतान करने की मांग, 300 सौ करोड़ रुपए से ज्यादा की देनदारी

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ठेकेदारों ने नगर निगम के सामने होर्डिंग लगाई। - Dainik Bhaskar
ठेकेदारों ने नगर निगम के सामने होर्डिंग लगाई।

बकाया भुगतान न होने को लेकर नगर निगम के ठेकेदारों ने मोर्चा खोल दिया है। गुरुवार शाम एक ऐसी होर्डिंग लगाई गई , जिसमें कहा गया कि अगर ठेकेदारों का भुगतान नहीं होता है तो आंदोलन को विवश होंगे। लालबाग स्थिति नगर निगम मुख्यालय के सामने होर्डिंग लगाकर ठेकेदारों ने नगर निगम प्रशासन को 20 अक्टूबर का समय दिया है। इसमें कहा गया है कि अगर समय से भुगतान नहीं होता है तो 22 तारीख से ठेकेदार धरने पर बैठने को विवश होंगे।

नगर निगम में भुगतान को लेकर यह पहला मौका नहीं है जब ठेकेदारों ने ऐसा किया हो। इससे पहले भी ठेकेदार दबाव की राजनीति करते आए हैं। हालांकि उनका बकाया भी लगातार बढ़ता जा रहा है। स्थिति यह है कि करीब 300 करोड़ रुपए से ज्यादा का भुगतान लटक गया है। लोगों को 10 से 12 साल पुराने काम के भुगतान नहीं हुए हैं। इसमें एक कई काम कराने वाले ठेकेदार गुजर चुके हैं। अब उनके परिवार वाले अपने पैसे के लिए दौड़ लगाते हैं। स्थिति यह है कि सिविल के साथ- साथ गाड़ी वालों को लाखों रुपए का भुगतान फंसा हुआ है।

गुलाब देने की चलाया था आंदोलन

नगर निगम में इससे पहले ठेकेदारों ने पूर्व नगर आयुक्त इन्द्रमणि त्रिपाठी के समय गुलाब देने का आंदोलन चलाया था। इसमें उनके कार्यालय में प्रतिदिन गुलाब भेजा गया था। उसके अलावा कई बार भुगतान को लेकर नगर निगम में मार-पीट की नौबत भी आ चुकी है। यहां करीब छोटे - बड़े 700 से ज्यादा ठेकेदार रजिस्टर्ड है। इसमें कई लोगों का करोड़ों रुपए का भुगतान फंसा हुआ है। हालांकि कुछ ठेकेदार नेता दबाव बनाकर अपना भुगतान करा लेते हैं। हर साल करीब 500 करोड़ रुपए से ज्यादा का नगर निगम में काम होता है। लेकिन उसका भुगतान समय से नहीं होने की वजह से आए दिन ठेकेदार हंगामा करते हैं।