शाजहांपुर में दहेज की बलि चढ़ी विवाहिता:पति ने पत्नी की गोली मारकर हत्या की, पिता बोला- व्यापार के लिए 20 लाख रुपए मांग रहा था दामाद

शाहजहांपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने पूर्व जिला पंचायत सदस्य रहे चुके पिता की तहरीर के आधार पर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने पूर्व जिला पंचायत सदस्य रहे चुके पिता की तहरीर के आधार पर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में दहेज की डिमांड पूरी न हाेने पर एक शख्स ने अपनी पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। आरोप है पति 20 लाख रुपए मायके से लाने के लिए पत्नी पर दबाव बना रहा था। जिससे आए दिन विवाद होता था। शनिवार की शाम भी दोनों के बीच विवाद हुआ। विवाद इतना बढ़ा कि पति ने पत्नी पर फायर कर दिया। पुलिस ने पूर्व जिला पंचायत सदस्य रहे चुके पिता की तहरीर के आधार पर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

व्यापार के लिए रुपए मांग रहा था पति

सिंधौली थाना क्षेत्र के रहने वाली बबली सुधाकर त्रिपाठी पहले जिला पंचायत सदस्य रही हैं।बबली और उनके पति सुधाकर त्रिपाठी ने अपनी 28 वर्षिय बेटी वंदना की शादी निगोही कस्बा के रहने वाले प्रमोद अवस्थी के बेटे अतुल अवस्थी के साथ चार साल पहले की थी। अतुल ने कुछ दिन पहले कस्बे में ही जिम खोला था। शनिवार की शाम दोनों में कुछ विवाद हुआ था। उसके बाद पत्नी की गोली लगने से मौत हो गई। घटना के बाद ससुराल पक्ष महिला को राजकीय मेडिकल कॉलेज लाए। जहां डाक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया। उसके बाद भी ससुराल पक्ष ने मायके पक्ष को घटना की जानकारी नहीं दी। वंदना के पिता को उनके बहनोई ने घटना की जानकारी दी। जिसके बाद पिता भी राजकीय मेडिकल कॉलेज पहुंच गए। पिता ने आलाधिकारियों को फोन पर घटना की जानकारी दी। मायके पक्ष को देखकर ससुराल पक्ष राजकीय मेडिकल कॉलेज से खिसक गया।

पिता ने रो-रोकर बताया- इकलौती बेटी हैसियत से बढ़कर दिया था दहेज

मृतका के पिता सुधाकर त्रिपाठी ने बताया कि अपनी हैसियत से बढ़कर करीब 30 लाख रुपए खर्च कर शादी की थी। जिसमें दामाद अतुल को कार भी दी थी। पिता का आरोप है कि पति समेत ससुराल पक्ष लगातार वन्दना को प्रताड़ित कर रहा था। अतुल व्यापार को बढ़ाने के लिए 20 लाख रुपये की मांग कर रहा था। पिता ने कहा हम राजनीति करते हैं इसलिए दामाद चाहता था कि उसके परिवार की किसी एक शख्स की नौकरी लगवा दें। ये दोनों मांग पूरी नहीं कर सके। इसलिए ससुराल पक्ष वन्दना को मायके में फोन तक पर किसी से बात नहीं करने देता था। पिता का आरोप है कि पति ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी है। घटना की सूचना मिलने के बाद सीओ सदर अरविंद कुमार समेत निगोही पुलिस राजकीय मेडिकल कॉलेज पहुंच गई। जहां उन्होंने पिता से बातचीत कर तहरीर देने की बात की।

तहरीर के आधार होगी आगे की कार्रवाई

सीओ सदर अरविंद कुमार ने बताया कि घटना की जानकारी होने पर राजकीय मेडिकल कॉलेज आकर मृतका के पिता से बातचीत की है। तहरीर मिलते ही उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...