पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • If The Dealer Did Not Give The Bribe, Then The Inspector Took Away The Distribution And The Scales In Lucknow ; When The Photo Went Viral, The Police Officers Sent Home And Asked For An Apology.

लखनऊ में दरोगा की दादागिरी:ठेले वाले ने घूस नहीं दी तो बांट और तराजू उठा ले गया दरोगा; फोटो वायरल हुई तो पुलिस कमिश्नर ने इंस्पेक्टर को घर भेजकर माफी मंगवाई

लखनऊ23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी में भी पुलिस कमाई का कोई मौका नही छोड़ रही। राजधानी के हजरतगंज थाना क्षेत्र में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। इसमें पटरी दुकानदार से वसूली के रुपए न मिलने पर दरोगा ने पहले उसकी पिटाई की फिर बांट और तराजू छीन लिया। सोशल मीडिया पर इसकी फोटो वायरल हुई तो दरोगा के सीनियर इंस्पेक्टर को पुलिस कमिश्नर ने जमकर फटकार लगाई। इसके बाद दरोगा की जगह खुद इंस्पेक्टर हजरतगंज ठेले वाले के पास पहुंचे और उससे माफी मांगी।

100 रुपए नहीं दे पाया था
मामला 1090 चौराहे का है। यहां डालीगंज में रहने वाला पटरी दुकानदार दीपू सोमवार को ठेले पर फल बेच रहा था। आरोप है कि हर रोज 50 से ज्यादा ठेले पुलिस को रोजाना के 100 रुपए देते हैं। रविवार को कमाई न होने से दीपू पुलिस को वसूली के 100 रुपए नहीं दे पाया। बस इसी बात पर दरोगा डालीबाग चौकी प्रभारी सुरेंद्र सिंह का पारा चढ़ गया। उन्होंने दीपू की जूतों से पिटाई करके उसका तौल वाला बांट और तराजू छीन लिया। इसके बाद वह सिपाही के साथ गाड़ी पर बैठे और चले गए।

इस दौरान दीपू उनके सामने काफी गिड़गिड़ाता रहा, लेकिन दरोगा ने एक नहीं सुनी। दूर से इमरान नाम के फोटोग्राफर ने इसे अपने कैमरे में कैद कर लिया। इमरान ने इसे सोशल मीडिया पर जैसे ही पोस्ट किया, ये वायरल हो गया।

पुलिस कमिश्नर ने घर भेजकर मांगी मंगवाई
मामले की जानकारी पुलिस कमिश्रर तक पहुंची तो उन्होंने हजरतगंज इंस्पेक्टर श्यामबाबू शुक्ला को तलब कर फटकार लगाई। कमिश्नर से माफी मांगते हुए इंस्पेक्टर ठेले वाले के पास पहुंच गए। दीपू के घर पहुंचकर उन्होंने उससे दरोगा के कारनामे की माफी मांगी। इंस्पेक्टर ने बाट-तराजू के बदले दीपू को इलेक्ट्रॉनिक तराजू दिया। इंस्पेक्टर का कहना है कि डालीबाग चौकी प्रभारी ने गलती की थी।

खबरें और भी हैं...