आतंकी हबीबुल बोला- नूपुर को जिंदा रहने का हक नहीं:ATS से कहा- देश में अपनी हुकूमत बनाएंगे; 5 राज्यों में फैला नेटवर्क

लखनऊएक महीने पहलेलेखक: अनुज शुक्ला

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े UP में सहारनपुर के मोहम्मद नदीम और फतेहपुर के हबीबुल ने देश के 5 राज्यों में नेटवर्क फैला लिया था। 12 दिन की रिमांड के पहले दिन की पूछताछ में आतंकियों के नेटवर्क के क्लू ATS को मिले हैं।

पूछताछ में ATS अफसरों से हबीबुल ने कहा- "देश में गैर इस्लामी लोगों को रहने का कोई अधिकार नहीं। खासकर नूपुर शर्मा जैसे लोगों को।'' हबीबुल और नदीम के मंसूबों को जानकर ATS चौकन्ना हो गई है।

  • खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में हिस्सा ले सकते हैं...

10 पॉइंट्स पर ATS हेडक्वार्टर में हो रही पूछताछ
जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी नदीम और उसके साथी हबीबुल के साथ सबाउद्दीन को ATS ने बुधवार सुबह 11 बजे रिमांड कस्टडी पर लिया। ATS इनसे 10 पॉइंट्स पर पूछताछ कर रही है। सोर्स के मुताबिक, उन्हें अलग-अलग कमरों में रखा गया है। पूछताछ में उन्होंने खुलकर धर्म के खिलाफ बोलने वालों पर फिदायीन हमले के फैक्ट कबूल किए हैं।

अब वो 10 पॉइंट्स पढ़िए, जिन पर पूछताछ हो रही है

  1. नूपुर शर्मा पर हमले की योजना का कारण।
  2. देश में कहां-कहां फैला है नेटवर्क?
  3. देश के किन-किन युवाओं से हैं संपर्क?
  4. पाकिस्तान में किससे बात होती है?
  5. फंडिंग कौन कर रहा?
  6. वर्चुअल ID बनाना कैसे सीखा?
  7. जैश-ए-मोहम्मद के संपर्क में कैसे आए?
  8. ऑनलाइन क्लास कब और क्यों जॉइन की?
  9. उनका मंसूबा क्या है?
  10. देश में कौन दे रहा शरण?
आजमगढ़ से गिरफ्तार सबाउद्दीन की रिमांड ATS को मिली है।
आजमगढ़ से गिरफ्तार सबाउद्दीन की रिमांड ATS को मिली है।

UP से गुजरात तक नेटवर्क, 8 साथियों की तलाश
पूछताछ में सामने आया है कि तीनों आतंकियों का UP के साथ ही गुजरात, महाराष्ट्र, झारखंड और जम्मू-कश्मीर तक नेटवर्क है। यहां के लोगों से लगातार टच में हैं। इनमें 8 ऐसे लोग सामने आए हैं, जो लगातार फोन और ऑनलाइन नेटवर्क से इनके संपर्क में थे। इनकी धरपकड़ के लिए UP ATS अन्य सुरक्षा एजेंसियों की मदद ले रही है।

साइबर एक्सपर्ट तोड़ेंगे ऑनलाइन नेटवर्क
ATS की साइबर एक्सपर्ट की टीम जैश-ए-मोहम्मद के UP में फैले नेटवर्क को तोड़ने में जुटी है। ATS हबीबुल और नदीम के ऑनलाइन नेटवर्क का खुलासा कर उससे जुड़े लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।

ATS की गिरफ्त में हबीबुल खुलकर अपने मंसूबे बता रहा है।
ATS की गिरफ्त में हबीबुल खुलकर अपने मंसूबे बता रहा है।

3 टीम कर रही पूछताछ, केंद्रीय एजेंसियां भी शामिल
बुधवार को नदीम, हबीबुल और सबाउद्दीन से कस्टडी रिमांड पर पूछताछ के लिए 3 टीम बनाई गई हैं। पैटर्न कुछ ऐसा है कि पहले अलग-अलग, फिर आमने-सामने लाकर पूछताछ होनी है। इसमें अन्य राज्यों की सुरक्षा एजेंसी के साथ केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियां भी शामिल हैं। NIA को भी जांच शिफ्ट हो सकती है, क्योंकि ये मामला देश की सुरक्षा से जुड़ा हुआ है।

आतंकी बोले- देश में अपनी हुकूमत कायम करेंगे
एक अफसर ने कहा, ''नदीम और हबीबुल ने फिदायीन हमले की ऑनलाइन ट्रेनिंग ली है। अब देश के कई राज्यों में अपना नेटवर्क फैलाने पर काम कर रहे थे। नदीम और हबीबुल पूछताछ में लगातार भाजपा प्रवक्ता नूपुर के बयान को गलत और उनको काफिर बताते रहे हैं। पूछताछ में इन लोगों ने कहा, 'हम लोग अपने धर्म के हिसाब से चल रहे हैं। जो दीन में कहा गया, वही कर रहे हैं। देश में अपनी हुकूमत कायम करेंगे।' उन्होंने आतंक की राह से इस्लाम को बढ़ाने की बात कही।

सहारनपुर से गिरफ्तार नदीम ने कहा, "नूपुर का धर्म पर बयान अपमानित करने वाला।"
सहारनपुर से गिरफ्तार नदीम ने कहा, "नूपुर का धर्म पर बयान अपमानित करने वाला।"

जो दीन के खिलाफ बोलेगा, वो हमारा टारगेट
सहारनपुर से गिरफ्तार नदीम ने ATS की पूछताछ में कहा, "भाजपा प्रवक्ता नूपुर का बयान धर्म को अपमानित करने वाला था। जिसका बदला लेना जरूरी है। इसलिए फिदायीन हमले की तैयारी कर रहे थे।"

उसने हबीबुल से ऑनलाइन संपर्क होने की बात कबूल की। ATS उनके पाकिस्तान और अफगानिस्तान जाने के बिंदु की पड़ताल कर रही है। हालांकि, अभी तक उनके विदेश जाने के साक्ष्य नहीं मिले हैं।

पूर्व भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने पैगंबर पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी
एक न्यूज डिबेट में भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद साहब पर कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसका मुस्लिम समुदाय लगातार विरोध कर रहा है। पिछले दिनों शर्मा ने बयान जारी कर कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया। मामले के तूल पकड़ने के बाद पार्टी ने उन्हें निलंबित कर दिया, जिसके बाद उन्होंने कहा था कि वे बिना शर्त अपने बयान वापस लेती हैं। शर्मा पर महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में मुकदमा भी दर्ज किया गया है।

नूपुर शर्मा का सपोर्ट करने पर 3 राज्यों में हुए मर्डर
नूपुर शर्मा का सपोर्ट करने पर देश के अलग-अलग जगहों पर मर्डर किए गए। कभी राजस्थान में तो कभी महाराष्ट्र में हत्याएं की गईं।

  • राजस्थान के उदयपुर में 28 जून (मंगलवार) की शाम को दो लोगों ने गला काटकर दर्जी कन्हैयालाल की हत्या कर दी थी। आरोपियों ने हत्या का पूरा वीडियो भी बनाया था।
  • महाराष्ट्र के अमरावती में 21 जून को दवा व्यापारी उमेश कोल्हे की हत्या कर दी गई थी। उमेश ने भी सोशल मीडिया पर BJP की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट लिखी थी
  • बिहार के सीतामढ़ी में अंकित झा को नूपुर शर्मा का वीडियो देखने पर चाकू मारा गया। बाजार में दौड़ा-दौड़ाकर अंकित पर 6 बार चाकू से हमला किया गया। अंकित एक दुकान पर बैठकर मोबाइल में स्टेटस देख रहा था। उसमें नूपुर शर्मा का वीडियो था। पीछे से कुछ लोग आए और पूछा कि नूपुर शर्मा के समर्थक हो। मैंने जैसे ही हां कहा, चाकू मारने लगे।
  • महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में 4 अगस्त को नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर एक युवक पर करीब 15 लोगों ने तलवार और हॉकी स्टिक से हमला कर दिया था।