पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लखनऊ में ब्लैक फंगस के मरीजों का हाल:KGMU में 18 दिन में 273 मरीज मरीज भर्ती हुए; 35 मरीजों की हुई मौत, 18 ठीक हुए व

लखनऊ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केजीएमयू में 18 दिन में 273 मरीज मरीज भर्ती हुए। - Dainik Bhaskar
केजीएमयू में 18 दिन में 273 मरीज मरीज भर्ती हुए।
  • अब तक कुल 324 मरीज हो चुके यहां भर्ती, 212 लोगों का हुआ ऑपरेशन

राजधानी के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या बढ़ते ही जा रही है। यहां ठीक होने से ज्यादा मरने वालों की संख्या नजर आ रही है। पिछले 18 दिन के आंकड़ों पर गौर करे तो मरने वाले और ठीक होने वाले मरीजों में करीब दोगुना का अंतर नजर आ रहा है। 20 मई से 8 जून तक तक ब्लैक फंगस के 18 मरीज ठीक हुए हैं, लेकिन मरने वालों की संख्या 35 पहुंच गई है। यहां तक वहां आने वाले 70 फीसदी मरीजों का ऑपरेशन करना पड़ रहा है। अब तक मेडिकल कॉलेज में 324 मरीज भर्ती हो चुके हैं।

यूनिवर्सिटी की तरफ से ही प्रतिदिन दी जाने वाली सूचना पर गौर करने के बाद यह चौकाने वाले आंकड़े सामने आए है। 18 दिन में यहां 273 मरीज भर्ती हुए है। इसमें से 212 लोगों का अब तक ऑरपरेशन करना पड़ा है। जानकारों का कहना है कि इसमें ज्यादतर लोगों का ऑपरेशन समय पर इंजेक्शन न मिलने की वजह से है। हालांकि इस बात को सामने आकर स्वीकार करने में केजीएमयू का स्टॉफ डर रहा है। स्थिति यह है कि कई बाद जितने मरीज भर्ती हो रहे है। उतने ही लोगों का उस दिन ऑपरेशन हो रहा है।

महज पांच दिन मरीज डिस्चार्ज हुए है
एक तरफ जहां रोज औसतन 15 मरीज प्रतिदिन भर्ती हो रहे है, वहीं ठीक होने वाले मरीजों की संख्या औसतन एक है। पिछले 18 दिन में 3, 4, 5 , 6 और 8 जून की तिथियों में ही मरीज ठीक होकर अपने घर गए है। बाकी दिन भर्ती, मरने और ऑपरेशन वालों का रहा है।

खबरें और भी हैं...