पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • In Lucknow, The Youth Was Cheated In The Name Of Job, The Thug Threatened To Become A CBI Inspector, Four People Including Two Women Arrested

घूस का पैसा वापस मांगा तो मार दूंगा गोली...:लखनऊ में युवक से नौकरी के नाम पर ठगी, ठग ने सीबीआई इंस्पेक्टर बन दी धमकी, दो महिला समेत चार लोग गिरफ्तार

लखनऊ3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में ठग। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में ठग।
  • पंचायत कॉर्डिनेटर की नौकरी दिलवाने के नाम पर वसूले थे पैसे
  • jobin.lucknow वेबसाइट बना कर रहे थे नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी

लखनऊ में एक ठग ने खुद को सीबीआई का इंस्पेक्टर बताते हुए बेरोजगार युवक को नौकरी के नाम पर दिए गए पैसा वापस मांगने पर जान से मारने की धमकी दी। ठग ने अपनी महिला साथियों संग मिलकर पीड़ित युवक से पंचायत कॉर्डिनेटर पद पर नियुक्ति दिलाने के नाम पर 70 हजार रुपये लिए थे। बुधवार शाम कृष्णानगर पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर धोखाधड़ी करने वाले इस गिरोह की दो युवतियों समेत चार लोगों गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के पास से सीबीआई के फर्जी पहचान पत्र भी बरामद हुआ है।
फर्जी सीबीआई इंस्पेक्टर साथियों समेत गिरफ्तार
इंस्पेक्टर आलोक कुमार राय ने बताया कि सरोजनीनगर निवासी प्रशांत दुबे ने मंगलवार नौकरी के नाम पर ठगी का मामला दर्ज कराया था। उस शिकायत के आधार पर लखनऊ प्रेमनगर निवासी राहुल सिंह उर्फ आर्यन, कुशीनगर निवासी मुकेश तिवारी, लखनऊ विनीतखंड निवासी कविता नयाल जोशी और कुशीनगर निवासी प्रिया वर्मा को गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से दो सीबीआई के फर्जी आईडी कार्ड, एक पिस्टल व 8 मोबाइल फोन बरामद हुए। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि यह लोग बेरोजगारों को जॉब सर्च साइट से खोजते थे। फिर उनसे संपर्क कर नौकरी दिलाने के नाम पर पैसा वसूलते थे। किसी के तगादा करने पर राहुल व मुकेश सीबीआई अधिकारी होने की बात कर पीड़ित को धमका कर चुप करा देते थे।
jobin.lucknow वेबसाइट बना कर रहे थे नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी
इंस्पेक्टर कृष्णानगर आलोक कुमार राय ने बताया कि सरोजनीनगर निवासी प्रशांत दुबे ने बताया था कि नौकरी के लिए सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली थी। इसी दौरान अनुराग मौर्या से मुलाकात हुई। उसने jobin.lucknow के बारे में बताया था। अनुराग के कहने पर एजेंसी की एचआर कविता से बात की। कविता ने मुलाकात के बाद बताया कि पंचायत विभाग में संविदा पर पंचायत कॉर्डिनेटर पद की भर्ती निकली है। नौकरी पाने के लिए 70 हजार रुपये खर्च होंगे। कविता की बातों में आकर उसने 70 हजार रुपये दे दिए थे। जब नौकरी नहीं लगी तो तगादा किया। जिस पर आरोपी ने मारने की धमकी दी।
ऑनलाइन परीक्षा लेकर जारी कर दिया फर्जी नियुक्ति पत्र
पीड़ित प्रशांत के मुताबिक ठगों ने ऑनलाइन परीक्षा लेने के बाद नियुक्ति पत्र भी जारी कर दिया था। कविता ने मंगलवार को नियुक्ति पत्र देने के नाम पर कृष्णानगर मेट्रो स्टेशन के पास एक रेस्टोरेंट में बुलाया। जहां नियुक्ति पत्र के नाम पर पैसे ले लिए। नौकरी न मिलने की बात कहते ही कविता का साथी भड़क गया और खुद को सीबीआई अधिकारी बताते हुए पिस्टल निकाल ली। साथ ही जान से मारने की धमकी देते हुए कहा कि घूस का पैसा वापस नहीं होता। दोबारा मांगा तो जान से मार दूंगा।

खबरें और भी हैं...