प्लाट दिलाने के नाम पर 1.20 करोड़ की ठगी:लखनऊ में ठगों ने प्रापर्टी डीलर को फर्जी दस्तवावेज दिखा किया था सौदा, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में ठगी का आरोपित अमरेंद्र। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में ठगी का आरोपित अमरेंद्र।

लखनऊ गोमतीनगर पुलिस ने शुक्रवार को 1.20 करोड़ की ठगी करने वाले अमरेंद्र सोनकर को गिरफ्तार कर लिया। उसने फर्जी दस्तावेज के सहारे प्लाट दिलाने के नाम पर एक प्रापर्टी डीलर को ठगा था। प्रापर्टी डीलर ने गोमतीनगर थाने पर आरोपी व उसके साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन ने बताया कि ठगी के आरोपी प्रयागराज निवासी अमरेंद्र के खिलाफ विपुलखंड निवासी प्रॉपटी डीलर राजेश कुमार ने मई 2018 में मुकदमा दर्ज कराया था। अमरेंद्र ने अपने साथी नरेंद्र सिंह, जियालाल और आफताब के साथ मिलकर धोखाधड़ी की थी। पुलिस जुलाई में अमरेंद्र के साथी जियालाल को गिरफ्तार किया था। तभी से यह फरार चल रहा था।

प्लाट देखने जाने पर हुई धोखाधड़ी की जानकारी
गोमतीनगर इंस्पेक्टर केके तिवारी ने बताया कि प्रापर्टी डीलर राजेश कुमार से ठगों ने एक प्लॉट के फर्जी कागज बना सौदा कर लिया। साथ ही खुद ही प्लाट का मालिक नरेंद्र सिंह बनकर बात भी कर ली। जिसके बाद बल्लभ कुमार नाम के युवक ने खुद को उनका रिश्तेदार बता प्लॉट के पेपर दिए। पीड़ित राजेश ने प्लाट के कागज देखने के बाद बदांयू निवासी दोस्त गंगाराम से प्लाट दिलवाने का सौदा पक्का कर दिया। जिसके बाद गंगाराम ने राजेश के माध्यम से आरोपितों को 1.20 करोड़ रुपये दे दिए। उसके बाद इन लोगों ने प्लाट की रजिस्ट्री नहीं की। प्लॉट पर जाने पर ठगी की जानकारी हुई। जांच में सामने आया कि आरोपी बल्लभ कुमार ही अमरेंद्र है।

खबरें और भी हैं...