तेल चोरी करने वाले दो कर्मचारियों पर मुकदमा:नगर निगम लखनऊ में खराब गाड़ियों के नाम पर भरवाया जा रहा था डीजल, पेट्रोल पपं मालिक को भी नोटिस

लखनऊ9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दो कर्मचारियों पर दर्ज कराया गया मुकदमा। पेट्रोप पंप मालिक को भी नोटिस दी गई। - Dainik Bhaskar
दो कर्मचारियों पर दर्ज कराया गया मुकदमा। पेट्रोप पंप मालिक को भी नोटिस दी गई।

विवाद में रहने वाले लखनऊ नगर निगम में डीजल चोरी का नया मामला आया है। इस बार कर्मचारियों ने खराब गाड़ी के नाम पर 744 लीटर डीजल पेट्रोल पंप मालिक के साथ मिलकर चोरी कर लिया। मामला सामने आने पर नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी की ओर से मुकदमा दर्ज कराया है। दरअसल, नगर निगम जोन में तीन मिनी हाइवा यूपी 32 एटी 2842 कई दिनों से निराला नगर में खराब हालत के खड़ी थी। इस वाहन के ड्राइवर सैयद हसन ने गलत तरीके से 704 लीटर डीजल के पर्चे का दुप्रयोग कर तेल गायब कर रहा था। इसके अलावा ड्राइवर प्रदीप कुमार ने 40 लीटर डीजल की चोरी की। दोनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। साथ ही संबंधित पेट्रोल पंप से तेल की आपूर्ति प्रतिबंधित कर पंप संचालक को नोटिस भेज मामले में जवाब तलब किया है। अधिकारियों के मुताबिक, गाड़ी में जीपीएस फ्यूल केलिब्रेशन के साथ वाहन के टंकी के अंदर लगे गैरो फ्लू सेंसर के इस्तेमाल से डीजल की चोरी पकड़ी गई है। बताया जा रहा है कि नोटिस का जवाब नहीं मिलने पर पंप मालिक के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

पहले भी होती आई चोरी

नगर निगम में पेट्रोल और डीजल चोरी का मामला नया नहीं है। इससे पहले साल 2017 और 2018 में भी मामला पकड़ में आया था। जब गाड़ी से डीजल निकालते हुए कर्मचारियों को पकड़ा गया था। उसके अलावा ईस्माइलगंज वार्ड दो में पूर्व पार्षद आरपी ने भी कई बार डीजल चोरी करने वालों पकड़ा है। इसमें कार्रवाई के दौरान कर्मचारियों को हटा दिया गया था। इसमें ठेकेदार की ओर से रखे गए कर्मचारी सबसे ज्यादा शामिल होते है।

खबरें और भी हैं...