• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • In Uttar Pradesh Weather Updates Returning Monsoon, It Will Rain Once Again 5.7 Mm Of Rain In The Last 24 Hours In UP; Alert In 12 Districts Today

यूपी में बीते 24 घंटे में 5.7 मिली मीटर बारिश:सुबह कोहरे के साथ ठंड की हुई शुरुआत; आज 12 जिलों में अलर्ट

लखनऊ17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश से मानसून लौटने का समय आ चुका है। लेकिन मौसम विभाग का मानना है कि मानसून लौटने से पहले एक बार और पूरे प्रदेश भर में मध्यम बारिश होने की संभावना है। अगले 48 घंटे में उत्तर प्रदेश में मौसम बदलेगा और कहीं भारी कहीं मध्यम बारिश होकर वाल लौट जाएगा।

फिलहाल बीते 24 घंटे में 5.7 मिलीमीटर बारिश पूरे प्रदेश भर में रिकॉर्ड की गई जो औसत अनुमान से 44% ज्यादा नहीं। अब तक मानसून शुरू होने से 37% कम बारिश पूरे प्रदेश भर में रिकॉर्ड की गई है।

सुबह पड़ रहे कोहरे, ठंडक बढ़ी, काले बादल छाए
राजधानी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश भर में बीते 24 घंटे में ठंडक का एहसास होने लगा है। मौसम विभाग की माने तो ठंडक शुरुआत हो गई है। सोमवार दूसरे दिन सुबह कोहरा पड़ा जिससे रास्तों पर धुंध दिखाई पड़ी। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि बदलते मौसम में सावधान रहने की जरूरत है। आंचलिक विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता बताते हैं कि या ठंडक की शुरुआत का समय है एक बार मॉनसून की आखिरी बारिश होने की पूरी संभावना है।

अरब सागर से उठी सर्द हवाएं, बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात
मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता बताते हैं कि बिजली 24 घंटे के पहले अब अरब सागर से उठी सर्द हवाओं का असर उत्तर प्रदेश में दिखने लगा है। जेपी गुप्ता बताते हैं बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात का असर पूर्वी उत्तर प्रदेश में ज्यादा पड़ेगा। धीरे-धीरे बदलते मौसम की वजह पहाड़ के क्षेत्रों में पड़ने वाली बर्फ का गलना भी है। सोमवार को प्रदेश के तराई के क्षेत्रों के 12 जिलों में बारिश होने की संभावना है।

वाराणसी में 4 दिन तक बारिश का अलर्ट, 24 घंटे में 1. 36 मीटर बढ़ गईं गंगा

यह फोटो वाराणसी के दशाश्वमेध घाट की है। हफ्ते भर बाद फिर से नावों का लंगर जलमग्न घाटों के ऊपर लग गया है।
यह फोटो वाराणसी के दशाश्वमेध घाट की है। हफ्ते भर बाद फिर से नावों का लंगर जलमग्न घाटों के ऊपर लग गया है।

वाराणसी में गंगा फिर से उफान पर आ गईं हैं। गंगा पर आधारित जनजीवन फिर से प्रभावित होने लगा है। पानी हर घंटे 8 सेंटीमीटर बढ़ रही है। एक दिन में दशाश्वमेध घाट की 10 से ज्यादा सीढ़ियां जलमग्न हो गईं हैं। वहीं 24 घंटे में 1 मीटर 36 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गई है। गंगा के घाट फिर से बड़ी तेजी से डूब रहे हैं। घाटों का आपसी संपर्क टूटने लगा है। वहीं कुछ घाट, तो पिछली बाढ़ के बाद से ही अभी तक नहीं जुड़ पाए थे।

केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार, आज सुबह 6 तक गंगा का जलस्तर 65.1 मीटर था। जबकि, रविवार को यह 63.74 मीटर था। गंगा अभी वार्निंग लेवल से करीब 5 मीटर 16 सेंटीमीटर और खतरे के निशान से 6 मीटर 16 सेंटीमीटर दूर हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि उत्तराखंड में हुई बारिश का असर है। वहां से पानी छोड़ा जा रहा है।

अयोध्या में 24 घंटों में हल्के बादलों का आवागमन जारी रहेगा

यह फोटो राम नगरी अयोध्या की है। ओस पढ़ने के कारण सुबह राम के सफेद चादर ओड़े दिखाई दिया।
यह फोटो राम नगरी अयोध्या की है। ओस पढ़ने के कारण सुबह राम के सफेद चादर ओड़े दिखाई दिया।

अयोध्या में सुबह का तापमान 24 डिग्री सेल्सियस रहा। आसमान साफ है। धूप निकली हुई है। आचार्य नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के अनुसार आगामी 24 घंटों में अयोध्या में आसमान में हल्के बादलों का आवागमन जारी रहेगा। कहीं-कहीं हल्के से मध्यम बारिश के आसार है। वहीं सरयू का जलस्तर खतरे के निशासन से 38 सेमी ऊपर बह रहा है। जिसके चलते अयोध्या, गोंडा, बलरामपुर समेत 10 जनपदों के तटवर्ती इलाकों में बाढ़ का खतरा बन गया है।

आगरा में शुरु हुई बारिश

आगरा में मौसम बदला। काली घटा के साथ बारिश शुरू।
आगरा में मौसम बदला। काली घटा के साथ बारिश शुरू।

आगरा में सोमवार को मौसम विभाग ने धूप निकलने की संभावना जताई थी। मगर, मौसम विभाग की संभावना के उलट सुबह अचानक मौसम बदला। पहले काली घटा छाई और फिर बारिश शुरू हो गई। शहर में बारिश होने से मौसम सुहाना हो गया है।

सहारनपुर में सुबह से आसमान में छाए बादल

सहारनपुर में सुबह से आसमान में बादल छाए हुए थे। अब बूंदाबांदी शुरू हो गई है।
सहारनपुर में सुबह से आसमान में बादल छाए हुए थे। अब बूंदाबांदी शुरू हो गई है।

सहारनपुर में सोमवार की सुबह से आसमान में बादल छाए हुए थे। करीब 9:30 बजे से बूंदाबांदी शुरू हुई। 2 दिन बाद हुई बारिश से मौसम में ठंडक आ गई है। जहां एक और लोगों को गर्मी से राहत मिली है वहीं दूसरी ओर सड़कों पर हुए कीचड़ और जलभराव के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि सहारनपुर में स्मार्ट रोड बनाई जा रही हैं। जगह जगह सड़कें खुदी पड़ी है। बारिश होने से अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस हो गया है।

12 जिलों में अलर्ट जारी
उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी, सीतापुर, बहराइच, गोंडा, महाराजगंज, गोरखपुर, बलिया, बलरामपुर, बस्ती, देवरिया, संत कबीर नगर, सिद्धार्थ नगर में बारिश होने की संभावना है। इन जिलों में बिजली की गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है। आंचलिक विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता बताते हैं 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से इन जिलों में हवाएं भी चल सकती हैं।

अब तक क्या रहा मानसून का रिकॉर्ड
आंचलिक विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता बताते हैं कि पूरे प्रदेश भर में मानसून शुरू होने से अब तक 448.9 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। जो अनुमान था 707.1 मिलीमीटर 18 सितंबर तक बारिश होनी थी। जो औसत अनुमान से 37% कम है। वह बीते 24 घंटे में अनुमान से 44% ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई। यानी 5.7 मिलीमीटर बारिश हुई जबकि अनुमान था कि 4 मिलीमीटर ही बारिश पर प्रदेश भर में होगी।

खबरें और भी हैं...