अयोध्या हनुमानगढ़ी दर्शन:इंटरनेशल क्रिकेटर आरपी सिंह ने अपनी मां के साथ हनुमानगढ़ी में किया दर्शन-पूजन; नहीं लगा सके रामलला के दरबार में हाजरी

अयोध्या5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हनुमानजी के दरबार में इंटरनेशल क्रिकेटर आरपी सिंह ने करीब 20 मिनट बिताए। साथ ही महंत राजूदास आशीर्वाद प्राप्त किया। - Dainik Bhaskar
हनुमानजी के दरबार में इंटरनेशल क्रिकेटर आरपी सिंह ने करीब 20 मिनट बिताए। साथ ही महंत राजूदास आशीर्वाद प्राप्त किया।

इंटरनेशल क्रिकेटर व रायबरेली एक्सप्रेस के नाम से मशहूर आरपी सिंह अपनी मां के साथ अयोध्या के हनुमानगढ़ी पहुंचे। हनुमान जी का दर्शन कर उनके गर्भगृह की परिक्रमा की। इस दौरान उन्हें धक्का-मुक्की भी सहना पड़ा। पर वे इसकी परवाह किए बिना भक्ति की राह पर डटे रहे। उन्होंने हनुमान जी का भोग प्रसाद भी ग्रहण किया। हनुमानजी के दरबार में उन्होंने करीब 20 मिनट बिताया और आनंद का अनुभव किया। हालांकि, वे रामलला का दर्शन अवधि के बाद में पहुंचने के कारण नहीं कर सके। भगवान व उनके मंदिर को बहुत ही भावपूर्ण होकर देखते रहे और मंदिर के प्रमुख स्थानों पर नतमस्तक भी होते रहे।

वे हनुमानगढ़ी में पूजन -अर्चन के दौरान बहुत ही भावुक दिखे। आरती में अपनी मां के साथ शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने महंत राजूदास आशीर्वाद प्राप्त किया। राजू दास ने उन्हें व उनकी मां को रामनामी भेंटकर उनका रामनगरी में स्वागत किया। हनुमान जी का भोग प्रसाद पाने के लिए आरपी सिंह को इंतजार भी करना पड़ा। इस दौरान वह भक्ति में लीन दिखे। आम श्रद्धालुओं की ही तरह उन्होंने दर्शन -पूजन किया।

महंत राजू दास ने आरपी सिंह व उनकी मां को रामनामी भेंटकर उनका रामनगरी में स्वागत किया।
महंत राजू दास ने आरपी सिंह व उनकी मां को रामनामी भेंटकर उनका रामनगरी में स्वागत किया।

बोले-जैसे ही अवसर मिला फिर से आएंगे अयोध्या
आरपी सिंह का अयोध्या से बहुत भावनात्मक लगाव है। श्रीरामजन्मभूमि पर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आने के बाद आरपी सिंह पिछले साल भी अपनी मां के साथ रामनगरी आए थे। उन्होंने रामलला के दरबार में हाजिरी लगाई थी, जबकि वे हनुमानगढ़ी में दर्शन-पूजन नहीं कर सके थे। इसी लिए वे इस बार दिल्ली से सीधे अयोध्या आकर हनुमान जी के दरबार में पहुंचे। संयोग ही रहा कि इस बार वे रामलला का दर्शन नहीं कर पाए। उन्होंने कहा कि जैसे ही अवसर मिला वे फिर अयोध्या आकर दर्शन-पूजन करना चाहते हैं।