UP में रातभर भारी बारिश, 15 की मौत:लखनऊ-कानपुर की सड़कें और रिहायशी इलाके डूबे, प्रदेश के 40 जिलों में अलर्ट

लखनऊ5 महीने पहले

उत्तर प्रदेश में पिछले 3 दिनों से लगातार बारिश हो रही है। गुरुवार रात से शुक्रवार सुबह तक कई शहरों में भारी बारिश हुई। इस दौरान हुए हादसों में 15 की जान गई है। पहली घटना लखनऊ की है। यहां दीवार गिरने से 9 मजदूरों की दबकर मौत हो गई। कानपुर में दो लोगों की डूबने से मौत हो गई। यहां से सटे उन्नाव में एक घर गिर गया, यहां 3 लोगों की जान गई है। एक अन्य घटना में भी एक व्यक्ति की मौत हो गई है।

भारी बारिश के चलते प्रदेश के कई शहरों में पानी भर गया है। सड़कें डूब गई हैं और घरों में पानी भर गया है। 40 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट भी जारी किया गया है।

बारिश से कई जगह काफी नुकसान हुआ। इस बारे में राहत आयुक्त कार्यालय ने डाटा जारी किया। जिसके अनुसार, तेज बारिश से लखनऊ में 9, उन्नाव में 5, फतेहपुर में 3, झांसी में 1, रायबरेली में 1, प्रयागराज में 2 और सीतापुर में 1 की मौत हो गई। इसी तरह बिजली गिरने से कन्नौज में 1 जान चली गई। जबकि सांप के काटने से सोनभद्र में 2 की मौत हो गई।

सबसे पहले लखनऊ के हादसे के बारे में जानिए...

1. लखनऊ में दीवार गिरने से 9 की मौत, दीवार के सहारे बनाई थी झोपड़ी

जहां हादसा हुआ, वहां की जमीन काफी दलदली हो चुकी है। मजदूर परिवार का एक बैग पड़ा दिखाई दे रहा है।
जहां हादसा हुआ, वहां की जमीन काफी दलदली हो चुकी है। मजदूर परिवार का एक बैग पड़ा दिखाई दे रहा है।

लखनऊ में तीन दिन से हो रही भारी बारिश के बीच शुक्रवार तड़के 3 बजे बड़ा हादसा हो गया। यहां दिलकुशा कॉलोनी में दीवार गिरने से 9 लोगों की दबकर मौत हो गई। दो घायलों को सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। DM सूर्यपाल गंगवार ने बताया कि सभी मृतक और घायल झांसी जिले के पचवारा के रहने वाले हैं। CM योगी घायलों से मिलने हॉस्पिटल पहुंचने वाले थे, लेकिन जलभराव के कारण दौरा रद्द करना पड़ा।

हादसा कैंट एरिया में आर्मी कैंपस में हुआ। यहां नई बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य हो रहा था। मजदूर पुरानी दीवार के सहारे झोपड़ी बनाकर रह रहे थे। हादसा उस वक्त हुआ जब सभी लोग सो रहे थे। आर्मी एरिया होने के चलते सबसे पहले रेस्क्यू के लिए आर्मी पहुंची। इसके बाद प्रशासन की टीम पहुंचीं। (पूरी खबर यहां पढ़ें)

हादसे से जुड़ी और तस्वीरें देखिए...

बारिश के बीच मिट्टी धंस गई। इसके बाद दीवार और झोपड़ी ढही, जिसमें सो रहे लोग दब गए।
बारिश के बीच मिट्टी धंस गई। इसके बाद दीवार और झोपड़ी ढही, जिसमें सो रहे लोग दब गए।
दीवार काफी पुरानी और मोटी थी। मिट्‌टी धंसने से दीवार गिर गई। भारी-भरकम दीवार की वजह से 9 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।
दीवार काफी पुरानी और मोटी थी। मिट्‌टी धंसने से दीवार गिर गई। भारी-भरकम दीवार की वजह से 9 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

2. उन्नाव में 2 हादसों में 4 की मौत, इनमें तीन भाई-बहन
उन्नाव में बारिश से जुड़े दो हादसों में 4 की लोगों की मौत हो गई। पहला हादसा, असोहा थाना क्षेत्र के कैथा गांव में हुआ। यहां रात को घर की दीवार गिरने से दो भाई और एक बहन की मौत हो गई। मृतकों में अंकित (20), उन्नति (6), अंकुश(4) हैं। वहीं, दूसरा हादसा अजगैन में चांदपुर झलिहाई गांव में हुआ। यहां कच्ची कोठरी गिरने से बाल गोविंद (52) की मौत हो गई। रात के वक्त घटना का किसी को पता ही नहीं चला। सुबह परिजन पहुंचे तो उन्हें घटना की जानकारी हुई।

यह फोटो उन्नाव के कैथा गांव की है। कच्ची दीवार गिरने से दो भाई और एक बहन की मौत हो गई।
यह फोटो उन्नाव के कैथा गांव की है। कच्ची दीवार गिरने से दो भाई और एक बहन की मौत हो गई।

3. कानपुर में जलभराव में डूबने से 2 लोगों की मौत
कानपुर में जलभराव में डूबने से दो लोगों की मौत हो गई। एक युवक का शव जूही खलवा पुल के नीचे मिला है। जबकि दूसरा शव जूही परमपुरवा के नाले में उतराता मिला है। जूही खलवा पुल पर बारिश के दौरान इतना जलभराव हो गया था कि रास्ता बंद कर दिया गया था। देर रात जलभराव के बाद सुबह पानी कम हुआ तो युवक का शव सड़क किनारे पड़ा मिला। मृतक की शिनाख्त नहीं हो सकी है।

वहीं, कानपुर में ही जूही परमपुरवा में युवक का शव नाले में उतराता मिला। मृतक की शिनाख्त दीपक शुक्ला (30) के रूप में हुई है। वह प्राइवेट नौकरी करता था। आशंका है कि बारिश में वह अंदाजा नहीं लगा पाया और नाले में डूब गया। (पूरी खबर यहां पढ़ें)

यह फोटो कानपुर की है। यहां जूही खलवा पुल के पास जलभराव में डूबकर युवक की मौत हुई है। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया है। मृतक की शिनाख्त नहीं हुई है।
यह फोटो कानपुर की है। यहां जूही खलवा पुल के पास जलभराव में डूबकर युवक की मौत हुई है। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया है। मृतक की शिनाख्त नहीं हुई है।

4. झांसी में सितंबर में बारिश का 18 सालों का रिकॉर्ड टूटा
झांसी में पिछले 3 दिनों से बारिश हो रही है। यहां सितंबर में बारिश का 18 सालों का रिकॉर्ड टूट गया। 1 से 15 सितंबर तक करीब 150 मिलीमीटर बारिश हुई है। इससे पहले 2003 में 400 मिलीमीटर बारिश हुई थी। 3 दिनों में करीब 120 मिमी बारिश होने से झांसी के नजदीक बरुआसागर झरना भी बहने लगा। सैकड़ों लोग झरना देखने पहुंच रहे हैं। (पूरी खबर यहां पढ़ें)

झांसी में लगातार हो रही बारिश से बरुआसागर झरना बहने लगा है।
झांसी में लगातार हो रही बारिश से बरुआसागर झरना बहने लगा है।

इन 40 जिलों में आज बारिश का अलर्ट
लखनऊ, कानपुर, उन्नाव, झांसी के अलावा नोएडा, अयोध्या, गाजियाबाद, गोरखपुर, फतेहपुर, सहारनपुर समेत 15 से ज्यादा जिलों में 24 या 48 घंटे से बारिश का दौर जारी है। मौसम विभाग ने आज शुक्रवार को भी 40 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है।

ये जिले हैं- मऊ, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, सिद्धार्थ नगर, बलरामपुर, गोंडा, आयोध्या, प्रतापगढ़, संत रविदास नगर, मिर्जापुर, कौशांबी, चित्रकूट, बांदा, फतेहपुर, रायबरेली, अमेठी, बाराबंकी, लखनऊ, उन्नाव, कानपुर नगर, कानपुर देहात, हमीरपुर, झांसी, जालौन, इटावा, औरैया, कन्नौज, हरदोई और मेरठ में बारिश का अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चल सकती हैं। बिजली की गरज चमक भी होने की संभावना जताई गई है।

इसके अलावा, प्रयागराज, जौनपुर, सुल्तानपुर, आजमगढ़, अंबेडकर नगर, बस्ती, गोरखपुर और संतकबीर नगर जिले शामिल हैं। इन जिलों में 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बिजली की गरज चमक के बीच बारिश हो सकती है।

यूपी में 24 घंटे में अनुमान से 326% ज्यादा बारिश
यूपी में बीते 24 घंटे में औसतन 26.8 मिलीमीटर बारिश हुई है। यह औसत अनुमान से 326% ज्यादा है। मौसम विभाग का अनुमान था कि 6.3 मिलीमीटर बारिश होगी। सिर्फ यही नहीं, प्रदेश में मानसून सीजन में अब तक 46% बारिश कम होने का आंकड़ा था। यह आंकड़ा 24 घंटे में घटकर 3% कम हो गया। यूपी में अब तक मानसून शुरू होने से 395 मिली मीटर बारिश हुई है। जबकि औसत 692 मिलीमीटर है।

लखनऊ यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं टली, 3 शहरों में स्कूल-कॉलेज बंद
लखनऊ, कानपुर और झांसी में भारी बारिश के चलते स्कूल-कॉलेज को बंद कर दिया है। लखनऊ यूनिवर्सिटी में शुक्रवार सुबह और दोपहर प्रथम व द्वितीय पाली में होने वाली सेमेस्टर परीक्षा स्थगित कर दी गई हैं। लखनऊ में कमिश्नर डॉ. रोशन जैकब ने शहर में जलभराव का निरीक्षण किया। वह पानी में उतरीं।

अब तस्वीरों में देखिए..यूपी की बारिश

लखनऊ में यह गोमती नगर में हाईकोर्ट के बाहर की फोटो है। वीआईपी इलाके में भी घुटने तक पानी भर गया था।
लखनऊ में यह गोमती नगर में हाईकोर्ट के बाहर की फोटो है। वीआईपी इलाके में भी घुटने तक पानी भर गया था।
यह फोटो लखनऊ के तिलकनगर इलाके की है। यहां बारिश से घरों से रात में पानी घुस गया।
यह फोटो लखनऊ के तिलकनगर इलाके की है। यहां बारिश से घरों से रात में पानी घुस गया।
ये तस्वीर कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम की है। बारिश होने से ग्रीन पार्क में होने वाले मैच रद्द कर दिए गए।
ये तस्वीर कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम की है। बारिश होने से ग्रीन पार्क में होने वाले मैच रद्द कर दिए गए।
ये तस्वीर शुक्रवार सुबह नोएडा की है। गुरुवार दोपहर से शहर में बारिश जारी है।
ये तस्वीर शुक्रवार सुबह नोएडा की है। गुरुवार दोपहर से शहर में बारिश जारी है।
ये तस्वीर अयोध्या में शुक्रवार सुबह की है। बीते 24 घंटे से यहां बारिश जारी है।
ये तस्वीर अयोध्या में शुक्रवार सुबह की है। बीते 24 घंटे से यहां बारिश जारी है।
ये तस्वीर झांसी की है। बारिश होने से 2 मंजिला मकान भरभरा कर गिर गया।
ये तस्वीर झांसी की है। बारिश होने से 2 मंजिला मकान भरभरा कर गिर गया।
खबरें और भी हैं...