सोनम किन्नर बनी मंत्री:अखिलेश को दिया श्राप, बोली कभी नही आएंगे सत्ता में; योगी की बनेगी बहुमत की सरकार

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कभी राहुल गांधी के खिलाफ पर्चा भरकर सोनम किन्नर चर्चा में आई थीं। आज योगी सरकार में उन्हें राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है। यूपी सरकार ने किन्नर बोर्ड का गठन किया है। जिसमें सोनम किन्नर को उपाध्यक्ष बनाया है। सीएम योगी इस बोर्ड में अध्यक्ष हैं।

सोनम किन्नर ने का कहना है कि भाजपा ने मुझे सोच से ज्यादा दिया है। अब पूरी जिंदगी पार्टी और अपने समाज की सेवा करुंगी। साथ ही, सोनम ने अखिलेश यादव को श्राप देते हुए कहा कि यूपी में कभी भी अखिलेश यादव की सरकार नही बनेगी। वह जहां से चुनाव लड़ेंगे अगर पार्टी हमें टिकट देती है। तो मैं अखिलेश के खिलाफ चुनाव लड़ूगी। पूरा किन्नर समाज भाजपा के साथ है। और एक बार फिर यूपी में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएंगे। बता दें कि करीब 3 महीने पहले सोनम किन्नर ने समाजवादी पार्टी को छोड़ भाजपा का दामन थामा था।

यूपी मे लहरायेगा भगवा, 5 लाख किन्नर भाजपा का देंगे साथ
दैनिक भास्कर से बात करते हुए सोनम ने कहा कि यूपी में करीब 5 लाख किन्नर है। हम सभी किन्नर हल्दी और चावल लेकर घर-घर जाएंगे। प्रदेश में किन्नरों के साथ अन्याय हो रहा था। लेकिन, योगी सरकार ने किन्नर बोर्ड का गठन करके साबित कर दिया है। कि भाजपा जो कहती है, वो करती है। सोनम किन्नर आश्रम सुल्तानपुर की पिठाधीश्वर भी हैं।

सोनम किन्नर आश्रम सुल्तानपुर की पिठाधीश्वर भी हैं। भाजपा में आने से पहले भी समाजसेवा के लिए उनका नाम चर्चा में आता रहा है।
सोनम किन्नर आश्रम सुल्तानपुर की पिठाधीश्वर भी हैं। भाजपा में आने से पहले भी समाजसेवा के लिए उनका नाम चर्चा में आता रहा है।

सियासत में आगे बढ़ती सोनम

  • सोनम किन्नर ने साल 2018 में नगर पालिका का चुनाव लड़ा था। हालांकि भाजपा की बबिता जायसवाल से हार गईं थीं।
  • कोविड लहर के दौरान मेनका गांधी के संसदीय क्षेत्र सुलतानपुर में ऑक्सिजन सप्‍लाई में सहयोग के तौर पर 50 हजार का चेक जिला प्रशासन को सौपा था।
  • 3 महीने पहले सोनम ने 7 नेताओं के साथ भाजपा ज्वाइंन की थी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने इन्हे पार्टी की सदस्यता दिलाई। सोनम के साथ अलीगढ़ से बसपा के पूर्व लोकसभा प्रत्याशी रहें अजीत बालियान, यूपी अकाली दल के प्रदेश अध्यक्ष सरदार गुरप्रीत सिंह बग्गा,संत कबीरनगर के वैभव चतुर्वेदी, देवरिया के अभय राज तिवारी और कांग्रेस के अजय शंकर दुबे ने भाजपा का दामन थामा था।